केरल: स्कूल में भोजन करने के बाद 120 बच्चे बीमार, अस्पताल में कराया गया भर्ती - After Eating Food in School About 120 Children Got Sick and Admitted to Hospital in Kerala - Jansatta
ताज़ा खबर
 

केरल: स्कूल में भोजन करने के बाद 120 बच्चे बीमार, अस्पताल में कराया गया भर्ती

मेडिकल कॉलेज अस्पताल से शुक्रवार को जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, बच्चों की हालत गंभीर नहीं है लेकिन कुछ समय तक उनके स्वास्थ्य पर नजर रखने के बाद ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी।

Author तिरुवनंतपुरम | January 19, 2018 1:26 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

केरल के एक स्कूल में भोजन करने के बाद करीब 120 बच्चे बीमार हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ये बच्चे तिरुवनंतपुरम के थोन्नकेल में एक प्राथमिक शाला में पढ़ते हैं। मेडिकल कॉलेज अस्पताल से शुक्रवार को जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, बच्चों की हालत गंभीर नहीं है लेकिन कुछ समय तक उनके स्वास्थ्य पर नजर रखने के बाद ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी। बुधवार की दोपहर, बच्चों ने स्कूल में दिया गया खाना खाया और बेचैनी तथा जी मिचलाने की शिकायत की। उनके अभिभावक उन्हें स्थानीय अस्पताल ले कर गए। भोजन के नमूने जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

बता दें कि महाराष्ट्र के भिवंडी में संदिग्ध विषाक्त भोजन करने से एक मदरसे के कम से कम 30 छात्र बीमार हो गए थे। भिवंडी के तहसीलदार शशिकांत गायकवाड़ ने बताया था कि मंगलवार दोपहर को किसी व्यक्ति ने मदरसे में दावत का आयोजन किया था। भोजन के बाद छात्रों को उल्टी आने, जी मिचलाने, पेट दर्द की शिकायत हुई जिसके बाद उन्हें तत्काल सरकारी आईजीएम अस्पताल ले जाया गया था। सभी छात्रों की आयु 12 से 15 के बीच बताई गई।

गायकवाड़ ने बताया था कि बाद में कुछ बच्चों की हालत बिगड़ने लगी जिसके बाद उन्हें मुंबई के नायर अस्पताल में भर्ती कराया गया। गायकवाड़ ने बुधवार रात अस्पताल का दौरा किया और बताया कि सभी बच्चों की हालत खतरे से बाहर है। वहीं दूसरी तरफ खबर है कि सदियों पुराने रॉक मंदिर और इसके हरेभरे प्रांगण को जल्द ही केरल की राजधानी के पास पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। यह मंदिर समुद्र तल से करीब 1800 फुट ऊंचा है।

केरल पर्यटन और राज्य पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने संयुक्त रूप से पर्वतीय मदावूरपारा मंदिर को बड़े पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने के लिए करोड़ों रुपयों की परियोजना शुरू की है। यह स्थल तिरुवनंतपुरम से करीब 20 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। पर्यटन सूत्रों ने कहा कि 22 एकड़ जमीन पर फैला यह शैल मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और इसके आस पास विहंगम दृश्य देखने को मिलते हैं। राज्य के पर्यटन मंत्री कदाकमपल्ली सुरेंद्रन ने बुधवार को एक समारोह में इस विकास परियोजना का उद्घाटन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App