ताज़ा खबर
 

अफ्रीकी मूल के छात्रों के बाद ग्रेटर नोएडा में हुआ केन्या की महिला पर हमला, कैलाश अस्पताल में कराया गया भर्ती

ग्रेटर नोएडा में अफ्रीकी मूल के छात्रों पर हमले के मामले थम नहीं रहे हैं। नाइजीरियाई छात्रों पर हमले के पांच अरोपियों की गिरफ्तारी के बाद बुधवार सुबह केन्या की युवती पर हमले का मामला सामने आया है।

Author नोएडा | Updated: March 30, 2017 1:05 PM
अफ्रीकी स्टूडेंट्स पर हमले की फाइल फोटो

ग्रेटर नोएडा में अफ्रीकी मूल के छात्रों पर हमले के मामले थम नहीं रहे हैं। नाइजीरियाई छात्रों पर हमले के पांच अरोपियों की गिरफ्तारी के बाद बुधवार सुबह केन्या की युवती पर हमले का मामला सामने आया है। ओमीक्रॉन सेक्टर के पास कैब में सवार मारिया बुरांडी को नीचे उतारकर अज्ञात लोगों पर हमले का आरोप है। घटना के बाद बुरांडी को ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के बाद उसे छुट्टी दे दी गई है। पिछले सोमवार से अफ्रीकी मूल के छात्रों के साथ मारपीट की यह तीसरी घटना है। उधर, अफ्रीकियों पर हमले को लेकर अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण स्थानीय भाजपा नेता पसोपेश में हैं। इस मामले पर बुधवार को भाजपा के पूर्व विधायक और जनहित मोर्चा के अध्यक्ष नवाब सिंह नागर ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। मुलाकात में विदेशियों की सुरक्षा को प्राथमिकता बताते हुए मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त विदेशियों की जांच कराने को जरूरी बताया है। सोमवार शाम को नाइजीरियन छात्रों पर हुए हमले के आरोपियों में कई सामाजिक संगठनों के सदस्यों को भी शामिल बताया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, 24 साल की केन्या की छात्रा नॉलेज पार्क इलाके में अपने कॉलेज जा रही थी। रास्ते में कुछ लोगों ने कैब रुकवाकर उसके साथ मारपीट की और फरार हो गए। कैलाश अस्पताल में हुए प्राथमिक इलाज के बाद छात्रा को छुट्टी दे दी गई। बताया गया है कि छात्रा ने हाल ही में एक निजी विश्वविद्यालय में दाखिला लिया है। नॉलेज पार्क पुलिस ने छात्रा की शिकायत के बाद मामला दर्ज किया है।

इस मामले से पहले पिछले सोमवार को एक नाइजीरिया के छात्र की अंसल मॉल के पास कुछ लोगों ने पिटाई की थी। इसके अलावा ग्रेटर नोएडा के रहने वाले छात्र मनीष खारी की मौत के बाद परिजनों के मोमबत्ती जुलूस निकालने के दौरान 3 नाइजीरियाई छात्रों के साथ मारपीट हुई थी। पुलिस ने 1200 अज्ञात लोगों और 10 नामजद के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज किया था। इनमें से 5 को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बताया गया है कि नाइजीरियाई छात्रों के खिलाफ स्थानीय लोगों में पैदा हुए रोष की वजह 17 साल के छात्र मनीष खारी की मौत है। 25 मार्च को मनीष खारी घर से गायब हो गया था। गंभीर अवस्था में मिले मनीष की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई थी। डॉक्टरों ने मादक द्रव्यों की ज्यादा खुराक लेने को मौत की वजह बताया था। मनीष के परिजनों ने मादक देने का आरोप 5 नाइजीरिया मूल के छात्रों पर लगाया था। पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर पांचों आरोपी नाइजीरिया के छात्रों को हिरासत में ले लिया था। जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया था।

ग्रेटर नोएडा में अफ्रीकी छात्रों पर हमला; सुषमा स्वराज ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से की बात

दिल्ली: उप-राज्यपाल अनिल बैजल का आदेश- "आम आदमी पार्टी से विज्ञापनों के लिए 97 करोड़ रुपये वसूले जाएं"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आम आदमी पार्टी से वसूलें 97 करोड़ रुपएः उपराज्यपाल अनिल बैजल
2 वित्त विधेयक से कानून बदले, संविधान का उल्लंघन: विपक्ष
3 तमिलनाडु के किसानों के लिए कर्ज माफी का कोई आश्वासन नहीं
ये पढ़ा क्या?
X