ताज़ा खबर
 

अरविंद केजरीवाल को एक और झटका, आशुतोष के बाद आशीष खेतान ने छोड़ी AAP, बताई ये वजह

अाशुतोष के बाद अब पूर्व पत्रकार आशीष खेतान ने आम आदमी पार्टी छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि मैं पूरी तरह से अपने कानूनी अभ्यास (लीगल प्रैक्टिस) पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं और इस समय सक्रिय राजनीति में शामिल नहीं हूं।

आशीष खेतान ने आम आदमी पार्टी से दिया इस्तीफा (Photo: ANI)

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। अाशुतोष के बाद अब पूर्व पत्रकार आशीष खेतान ने पार्टी छोड़ दिया है। इसके पीछे उन्होंने निजी वजह बताई है। अाशीष खेतान ने कहा कि, “मैं पूरी तरह से अपने कानूनी अभ्यास (लीगल प्रैक्टिस) पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं और इस समय सक्रिय राजनीति में शामिल नहीं हूं।” साथ ही उन्होंने कहा कि, “कानूनी पेशे में शामिल होने के लिए मैंने अप्रैल में डीडीसी से इस्तीफा दे दिया था। बस इतना ही है। किसी अन्य तरह की अफवाहों में मेरी दिलचस्पी नहीं है।” वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आशीष नई दिल्ली सीट से दोबारा लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं, लेकिन पार्टी उस सीट से दूसरे को चुनाव लड़ाना चाहती है।

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक आशुतोष ने आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। इसके पीछे उन्होंने निजी कारण बताया था। हालांकि, अरविंद केजरीवाल ने उनके इस्तीफे को नामंजूर करते हुए कहा था कि इस जीवन में ऐसा संभव नहीं है। अभी एक पखवाड़े भी नहीं बीते हैं कि पूर्व पत्रकार और 2014 में नई दिल्ली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ चुके आशीष खेतान ने आम आदमी पार्टी से नाता तोड़ लिया। आशीष दिल्ली सरकार के दिल्ली डायलॉग कमीशन के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी के नेता जिस तरह से पार्टी छोड़ रहे हैं, वह अरविंद केजरीवाल से लिए खतरे की घंटी है। पार्टी के संस्थापक सदस्यों में शामिल शांति भूषण, प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव, प्रो. आनंद कुमार, मयंक गांधी, शाजिया इल्मी पहले ही पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं। पार्टी में मौजूद कुमार विश्वास, कपिल मिश्रा जैसे नेता अरविंद केजरीवाल पर लगातार हमलावर हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 2 साल में 100 करोड़ की कमाई करना चाहते हैं 13 साल के तिलक, डिब्बावालों से खड़ी कर दी कंपनी
2 Bakra Eid 2018: लखनऊ में ‘इको फ्रेंडली’ बकरीद: बकरे की नहीं, इसकी देंगे कुर्बानी
3 सीएम योगी का बकरीद को लेकर निर्देश- कुर्बानी के दौरान न लें सेल्फी