ताज़ा खबर
 

शिवपाल यादव के बेटे आदित्य ने कहा- यूपी चुनाव में समाजवादी पार्टी को नहीं मिलेगा बहुमत

बाद में आदित्य ने कहा कि राज्य में समाजवादी पार्टी की हवा बह रही है। ऐसे में उन्हें भरोसा है कि अगली सरकार फिर से समाजवादी पार्टी ही बनाएगी।

Shivpal Yadav, state Assembly,Shivpal Yadav,samajwadi party,agra, aditya yadav, son of shivpal Yadav, Samajwadi party, UP Election, UP News, Jansatta Newsशिवपाल सिंह यादव और उनके बेटे आदित्य यादव

उत्तर प्रदेश समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य यादव ने कहा है कि उनकी पार्टी समाजवादी पार्टी को आगामी विधान सभा चुनावों में बहुमत नहीं मलेगा। शुक्रवार को आगरा में आदित्य ने कहा कि 403 सदस्यों वाली उत्तर प्रदेश विधानसभा में उनकी पार्टी को बहुमत से कम 170 सीटें ही आएंगी। उन्होंने कहा कि यह आंकड़ा पार्टी द्वारा कराए गए आंतरिक सर्वेक्षण से पता चला है। हालांकि, आदित्य ने कहा कि उनकी पार्टी के प्रति लोगों का रुझान बढ़ रहा है। जब उनसे पूछा गया कि क्या आप मानते हैं कि राज्य में समाजवादी पार्टी की अगली सरकार नहीं बनने जा रही है तो उन्होंने कहा, “यह न्यूनतम संख्या है जिस पर हम जीत दर्ज कर सकते हैं लेकिन यह आंकड़ा बढ़ सकता है।”

बाद में आदित्य ने कहा कि राज्य में समाजवादी पार्टी की हवा बह रही है। ऐसे में उन्हें भरोसा है कि अगली सरकार फिर से समाजवादी पार्टी ही बनाएगी। उन्होंने कहा कि पांच वर्षों के सपा के शासनकाल में जो विकास कार्य हुए हैं उससे जनता खुश है।

वीडियो देखिए: सपा में खींचतान का क्या होगा?

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी में सत्ता और पारिवारिक संघर्ष चल रहा है। कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बीच सत्ता और शक्ति की लड़ाई है। शिवपाल मुलायम सिंह के काफी नजदीक हैं। पिछले दिनों उन्होंने डॉन मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का विलय समाजवादी पार्टी में कराया था लेकिन यह मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पसंद नहीं आया। उन्होंने तुरंत इसके खिलाफ पार्टी में कड़ा विरोध जताया और विलय को खारिज कर दिया गया। कुछ दिनों बाद अखिलेश को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष से हटाकर शिवपाल सिंह यादव को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया। इसके बाद सीएम अखिलेश यादव ने शिवपाल सिंह यादव के महत्वपूर्ण मंत्रालय वापस ले लिए थे और उनके करीबी मंत्री गायत्री प्रजापति को बर्खास्त कर दिया था। बाद में प्रजापति की कैबिनेट में वापसी कराई गई।

Read Also- शिवपाल का छलका दर्द, कहा- कुछ लोगों को बैठे-बिठाए मिल जाती है विरासत

Next Stories
1 मुंबई के गोरेगांव फिल्म सिटी में फोटो शूटिंग के दौरान 38 साल की हथिनी की मौत
2 गाय की ‘आपत्तिजनक फोटो’ के बाद कस्टडी में मौत का मामला: पोस्टमॉर्टम में मिले चोटों और खून बहने के निशान
3 विकास के दावे पर खरी नहीं उतरी आप सरकार
कोरोना:
X