ताज़ा खबर
 

बंगालः PM के भाषण से पहले मिथुन बने भाजपाई, लहराया पार्टी ध्वज; बोले- जो बंगालियों से हक छीनेगा, हम उसके सामने खड़े होंगे

पिछले महीने ही मिथुन चक्रवर्ती के घर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत मिलने पहुंचे थे। इसके बाद सियासी गलियारों में खलबली मच गई है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र कोलकाता | Updated: March 7, 2021 2:23 PM
Mithun Chakraborty, BJPभाजपा जॉइन करने के बाद कैलाश विजयवर्गीय के साथ जनता का अभिवादन करते मिथुन चक्रवर्ती। (फोटो- पीसी मोहन/BJP)

बॉलीवुड और टॉलीवुड के नामी ऐक्टर मिथुन चक्रवर्ती रविवार को कोलकाता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से ऐन पहले भाजपा में शामिल हो गए। इस दौरान रैली के स्टेज में मौजूद मिथुन को बंगाल भाजपा के प्रमुख दिलीप घोष ने पार्टी का पटका पहनाया। मिथुन ने इसके बाद भाजपा का झंडा भी लहराया।

मिथुन ने भाजपा में शामिल होने के बाद रैली को संबोधित करते हुए कहा, “दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के सबसे बड़े नेता आज बंगाल पहुंचेंगे। ये सपना नहीं तो और क्या है। मैं बंगाल में रहने वाले सभी को बंगाली कहता हूं। मैं दिल से बंगाली हूं। यहां हम बड़े हुए हैं और हर चीज पर आपका हक है। जो आपका हक छीनने की कोशिश करेगा, वहां हम जैसे कुछ लोग खड़े हो जाएंगे।”

भागवत से मुलाकात के बाद लगी थी अटकलें: बता दें कि पिछले महीने ही मिथुन चक्रवर्ती के घर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत मिलने पहुंचे थे। इसके बाद सियासी गलियारों में खलबली मच गई थी। पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर यह मुलाकात बेहद महत्वपूर्ण समझी जा रही थी। इसके बाद मिथुन ने खुद कहा था कि वे संघ से जुड़े रहे हैं।

भागवत से मुलाकात के बाद मिथुन ने कहा था कि हमारा बहुत गहरा आध्यात्मिक रिश्ता है। बस इसी वजह से यह मुलाकात हुई है। मोहन भागवत जी मेरे घर पर आये इसका मतलब यह है कि वह मुझे और मेरे परिवार को बहुत प्यार करते हैं। इस मुलाकात को राजनीति से जोड़कर बिल्कुल ना देखा जाए। राजनीति से इसका दूर-दूर तक कोई भी लेना देना नहीं है। गौरतलब है कि मिथुन इससे पहले भागवत से साल 2019 के अक्टूबर महीने में मिले थे। यह मुलाकात तब नागपुर के संघ मुख्यालय में हुई थी।

तृणमूल कांग्रेस से राज्यसभा सांसद रह चुके हैं मिथुन: बता दें कि मिथुन चक्रवर्ती पूर्व में तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर राज्यसभा के सांसद रह चुके हैं। हालांकि लगातार सदन में गैरहाजिर रहने की वजह से उन्होंने खुद ही राज्यसभा की सदस्यता से तब इस्तीफा दे दिया था। अब एक बार फिर से मिथुन चक्रवर्ती पर बीजेपी डोरे डालते हुए नजर आ रही है।

Next Stories
1 यूपी: ऑपरेशन के बाद फटे पेट 3 साल की मासूम को कर दिया था बाहर- पिता का आरोप, मौत; डॉक्टर पर केस
2 दो साल तक होता रहा गैंगरेप, मां बनी तो बच्चे को कर दिया दूर, बेटा मिला तो 26 साल बाद करवाया मुकदमा
3 यूपी: अस्पताल के बाहर बच्ची ने तोड़ा दम, बाल अधिकार आयोग ने कहा- हो कार्रवाई
आज का राशिफल
X