ताज़ा खबर
 

अवैध खनन कराने वालों पर लगाया दो करोड़ से ज्यादा का जुर्माना

जिले में आबंटित गाटे की जगह खनन न कर अन्य स्थान पर खनन किए जाने की रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने कड़ी कार्रवाई की।

Author गोण्डा | November 2, 2017 1:54 AM
राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी)।

जिले में आबंटित गाटे की जगह खनन न कर अन्य स्थान पर खनन किए जाने की रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने कड़ी कार्रवाई की। उन्होंने अवैध खनन करने वाले पर दो करोड़ से ज्यादा का जुर्मान लगाया। जिलाधिकारी जेबी सिंह न बुधवार कोे अपर जिलाधिकारी की टीम भेजकर खनन के लिए आबंटित ग्राम ऐली परसौली परगना डिक्सिर तहसील तरबगंज अन्तर्गत गाटा संख्या 2826 व ग्राम दुर्गागंज परगना नवाबगंज तहसील तरबगंज तहत आबंटित गाटा संख्या 2769 व 2770 का निरीक्षण कराया। एडीएम के निरीक्षण में पता चला कि खनन पट्टेदारों ने खनन के लिए आबंटित गाटा भूमि के बजाय दूसरे गाटों पर अवैध खनन कराया।

डीएम ने बताया कि ग्राम ऐली परसौली में ग्राम के ही निवासी चंद्रभान सिंह गाटा संख्या 1989, मैन बहादुर सिंह गाटा संख्या 1989, भगवानदीन गाटा संख्या 1889 व रामनाथ गाटा संख्या 1989 में कुल 28139 घन मीटर अवैध खनन कराया गया जबकि दुर्गागंज में गावं ही निवासी खातेदारों शत्रुहन के जरिए गाटा संख्या 1426, रामप्रसाद, मालिकराम के जरिए गाटा संख्या 1425 व देवतादीन, महादेव के जरिए गाटा संख्या 1417, रामरतन के जरिए गाटा संख्या 1418 व गजेंद्र व विजय प्रकाश के जरिए गाटा संख्या 1419 में कुल 32560 घनमीटर अवैध खनन किया गया। खातेदारों के जरिए दोनों क्षेत्रों में कुल 60699 घनमीटर का अवैध खनन कराए जाने की पुष्टि हुई है। डीएम जेबी सिंह ने अवैध खनन कराने वाले खातादारों के ऊपर दो करोड़ छत्तीस लाख बहत्तर हजार छह सौ दस रुपए का जुर्माना लगाया है और वसूली की नोटिस जारी कर दी है।

पट्टेदारों को जिन्हें खनन के लिए जिलाधिकारी के जरिए पट्टा आबंटित किया गया था वहां पर खनन न कराकर दूसरे जगहों की रसीद देने व आबंटित भूमि पर खनन न कराने पर नोटिस जारी की है। इसी प्रकार अवैध खनन के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए डीएम ने बिना अनुमति के जेसीबी व पोकलैंड मशीनों से साधारण बालू खनन करने व कराने वालों को कड़ी चेतावनी दी है। डीएम ने बताया कि बालू खनन के पट्टाधारकों के जरिए मशीन से खनन कार्य करने की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि जनपद में कार्यरत जेसीबी व पोकलैंड मशीनों के पंजीकृत स्वामी सक्षम प्राधिकारी से बिना लाइसेंस लिए किसी भी दशा में खनन नहीं करेगें। पंजीकृत वाहन स्वामियों का लाइसेंस निरस्त कर वाहन जब्त कर लिया जाएगा और गैर पंजीकृत जेसीबी व पोकलैंड मशीनों के स्वामियों के खिलाफ मोटर अधिनियम.1988 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App