ताज़ा खबर
 

प्रदूषण मानकों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त हुई सरकार, एक दिन में 83.55 लाख रुपए का जुर्माना लगाया

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पराली जलाने वाले किसानों को इसके वैकल्पिक उपाय करने के लिए केंद्र की तरफ से 550 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। उन्होंने संबद्ध राज्य सरकारों से इसे रोकने के प्रयास तेज करने की अपील की।

पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्धन। (file photo)

पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि वायु प्रदूषण का सामना कर रहे दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हवा की गुणवत्ता को बेहतर बनाए रखने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है और प्रदूषण मानकों का उल्लंघन करने वालों पर कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में सुधार के महज एक दिन बाद सोमवार को वायु प्रदूषण में उछाल को देखते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि वायु प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

आयुर्वेद दिवस के मौके पर आयुष मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम के बाद हर्षवर्धन ने कहा कि हवा की गुणवत्ता को बेहतर बनाए रखने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव उपाय कर रही है। नियमों का पालन नहीं करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। इस सप्ताहांत दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में सुधार के बाद सोमवार को वायु सूचकांक पर प्रदूषण का स्तर एक बार फिर ‘बेहद खराब’ श्रेणी में दर्ज किया गया। मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की बढ़ती घटनाओं के कारण हवा की गुणवत्ता खराब हुई है।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पराली जलाने वाले किसानों को इसके वैकल्पिक उपाय करने के लिए केंद्र की तरफ से 550 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। उन्होंने संबद्ध राज्य सरकारों से इसे रोकने के प्रयास तेज करने की अपील की। उन्होंने लोगों से भी वायु प्रदूषण बढ़ाने वाले कामों से बचने और हवा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने को सुझाए गए हरित उपायों को अपनाने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद और गुरुग्राम में वायु प्रदूषण मानकों का पालन सुनिश्चित कराने के लिए एक नवंबर से सघन निगरानी अभियान शुरू किया था। इसमें केंद्र और राज्य सरकारों की संबद्ध एजंसियों के अधिकारियों के 52 निगरानी दल पांचों शहरों में लगातार औचक निरीक्षण कर रहे हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा संचालित इस अभियान के तहत रविवार को निगरानी दलों ने प्रदूषण मानकों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर 83.55 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। ‘स्वच्छ वायु अभियान’ नामक यह अभियान एक से 10 नवंबर तक चलेगा।

सीपीसीबी के अनुसार निगरानी दलों ने रविवार तक 368 शिकायतों पर कार्रवाई की। इनमें से 119 शिकायतें निर्माण कार्य में प्रदूषण मानकों के उल्लंघन की थीं। सर्वाधिक 316 शिकायतें मोबाइल ऐप ‘समीर’ से जबकि 52 शिकायतें सोशल मीडिया और ई-मेल के जरिए मिलीं। दिल्ली में तैनात 44 निगरानी दलों ने 248 शिकायतों पर कार्रवाई की। गुरुग्राम में 11, फरीदाबाद में 31, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पांच व गाजियाबाद में 21 शिकायतों पर कार्रवाई की गई। दिल्ली के अलावा शेष चार शहरों में दो-दो निगरानी दल लगातार औचक निरीक्षण कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App