संपूर्णानंद संस्कृत विवि में भी ABVP को झटका! NSUI का क्लीन स्वीप, दिग्विजय बोले- आपने “घर में घुस कर BJP” को मारा

पिछली बार भी 2020 में सम्पूर्णनान्द संस्कृत विश्विद्यालय में एनएसयूआई ने ही बाजी मारी थी ।

NSUI, ABVP, National Newsएनएसयूआई को संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में जीत मिली है, जिसके बाद विक्ट्री पोज के साथ फोटो खिंचाते हुए विजेता। (फोटोः टि्वटर/@INCDehradun)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) को दोहरा झटका लगा है। ऐसा इसलिए, क्योंकि काशी विद्यापीठ के बाद संपूर्णानंद विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में भी ABVP को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है।

महीने भर बाद हुए इस इलेक्शन में Congress की छात्र इकाई नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) के पैनल ने क्लीन स्वीप किया है। यानी इस चुनाव में एनएसयूआई ने सभी पदों पर जीत हासिल की है। अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के कृष्ण मोहन शुक्ला, उपाध्यक्ष पद पर अजीत कुमार चौबे, महामंत्री पद पर शिवम चौबे और पुस्तकालय मंत्री के पद पर आशुतोष कुमार मिश्रा ने जीत हासिल की है। छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) का पत्ता साफ हो गया।

जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष विश्वनाथ कुंवर ने कहा कि छात्रसंघ का यह चुनाव युवाओं का भाजपा को करारा जवाब है । उन्होंने कहा कि देश में अराजकता और बेरोजगारी की समस्या से त्रस्त युवाओं ने भाजपा को करारा जवाब दिया है और अब वे अब सत्ता परिवर्तन चाहते हैं।

बता दें कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी या विद्यार्थी परिषद) एक भारतीय छात्र संगठन है। इसकी स्थापना संघ कार्यकर्ता बलराज मधोक जी की अगुआई में की गयी थी। संगठन का मकसद विवि में वामपंथी विचारधारा की काट के तौर पर दक्षिणपंथ विचारधारा का प्रचार-प्रसार करना रहा है। हालांकि, इसका नाम बीजेपी के साथ जुड़ता रहा है, मगर संगठन पदाधिकारी साफ करते रहे हैं कि यह एक गैर राजनीतिक छात्र संगठन है और इसका भाजपा से कोई संबंध नहीं है।

वैसे, पिछली बार भी 2020 में सम्पूर्णनान्द संस्कृत विश्विद्यालय में एनएसयूआई ने ही बाजी मारी थी । पिछली बार अध्यक्ष पद पर शिवम शुक्ला, उपाध्यक्ष पर चन्दन कुमार मिश्र, महामंत्री पद पर अवनीश मिश्रा और पुस्तकालय मंत्री के पद पर रजनीकान्त दुबे ने जीत हासिल की है. ये चारों उमीद्वार कांग्रेस की छात्र शाखा एनएसयूआई के थे।

वहीं, काशी विद्यापीठ छात्र संघ के चुनाव में भी एबीपीवी का सूपड़ा साफ हो गया था। अध्यक्ष पद पर समाजवादी पार्टी (SP) के विमलेश यादव ने जीत दर्ज की थी। वहीं, एनएसयूआई को भी दो सीटें हासिल हुई थीं। इनमें उपाध्यक्ष संदीप पाल और महामंत्री प्रफुल्ल पांडे हैं। इनके अलावा पुस्कालय मंत्री के तुनाव में आशीष गोस्वामी ने जीत हासिल की, जो कि निर्दलीय लड़े थे।

Next Stories
1 UP Panchayat Election: उन्नाव रेप केस में दोषी कुलदीप सेंगर की पत्नी का BJP ने काटा टिकट, नए नाम पर विचार
2 मास्क के सवाल पर इंटरव्यू में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को मोबाइल फोन दिखाने लगे ऐंकर, पर खुद नहीं लगा रखा था फेस कवर
X