ताज़ा खबर
 

मुख्यमंत्री को मारने की साजिश के तहत हो रहे हमले: आप

पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज व दक्षिणी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के पार्टी प्रभारी राघव चड्ढा ने कहा कि मुख्यमंत्री पर हो रहे हमलों के पीछे की साजिश का प्रमाण यह है कि आज से चार साल पहले छत्रसाल स्टेडियम में मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हुए हमले के हमलावर को तो पुलिस ने घटनास्थल पर ही गिरफ्तार कर लिया, लेकिन उस मामले की जांच आज तक पूरी नहीं हो पाई है।

Author November 28, 2018 7:34 AM
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री व पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को जान से मारने की साजिश की जा रही है। पार्टी का कहना है कि बीते चार साल में केजरीवाल पर चार बार जानलेवा हमले हो चुके हैं। ये सभी हमले एक सोची-समझी साजिश के तहत किए जा रहे हैं और इनके पीछे भाजपा का हाथ है।
विधानसभा परिसर में मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत में पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज व दक्षिणी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के पार्टी प्रभारी राघव चड्ढा ने कहा कि मुख्यमंत्री पर हो रहे हमलों के पीछे की साजिश का प्रमाण यह है कि आज से चार साल पहले छत्रसाल स्टेडियम में मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हुए हमले के हमलावर को तो पुलिस ने घटनास्थल पर ही गिरफ्तार कर लिया, लेकिन उस मामले की जांच आज तक पूरी नहीं हो पाई है। चड्ढा ने कहा कि पिछले एक महीने में मुख्यमंत्री पर ये तीसरा हमला हुआ है। अभी पहले हमले की तफ्तीश पूरी भी नहीं हुई है कि एक के बाद दूसरा और दूसरे के बाद तीसरा हमला कराया गया। पहला हमला कुछ दिन पहले ही सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में हुआ।

दूसरा हमला दिल्ली सचिवालय में हुआ और कल तो हद ही हो गई जब तीसरे हमले को मुख्यमंत्री के घर पर ही अंजाम देने की कोशिश की गई। राघव चड्ढा ने कहा कि मैं साफ तौर पर कहना चाहता हूं कि इसके पीछे भाजपा का हाथ है। उन्होंने कहा कि भाजपा इस तरह की ओछी राजनीति न करे। ‘आप’ नेताओं ने जानना चाहा कि पुलिस सुरक्षा के बावजूद एक शख्स जिंदा कारतूस लेकर मुख्यमंत्री के घर के अंदर कैसे चला गया। उन्होंने कहा कि अगर कारतूस गए हैं तो इसका मतलब किसी अन्य शख्स ने पिस्तौल ले जाने का इंतजाम भी किया होगा। यह मुख्यमंत्री को जान से मारने की एक सोची-समझी चाल है।

उन्होंने कहा कि देश के कई राज्यों में भाजपा की सरकार है, लेकिन कभी ऐसा नहीं हुआ कि कोई शख्स भाजपा के किसी मुख्यमंत्री के घर में इस तरह का कोई जानलेवा सामान लेकर घुस गया हो। सिर्फ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ ही ऐसा बार-बार क्यों हो रहा है। चड्ढा ने कहा कि हैरानी की बात है कि पिछले साढ़े तीन साल में अरविंद केजरीवाल पर पांच बार जानलेवा हमले हो चुके हैं, लेकिन भाजपा की ओर से नियुक्त उपराज्यपाल का एक बयान तो दूर की बात है, इस गंभीर मसले पर चिंता जताते हुए एक ट्वीट तक नहीं आया। उन्होंने कहा भाजपा इस तरह की ओछी राजनीति न करे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App