ताज़ा खबर
 

पंजाब विधानसभा चुनाव: AAP ने जारी की 19 कैंडिडेट्स की पहली लिस्‍ट

आम आदमी पार्टी पंजाब में भी दिल्‍ली जैसा करिश्‍मा दोहराने की उम्‍मीद कर रही है।

Author नई दिल्‍ली | Updated: August 4, 2016 9:58 PM
दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (File Photo)

पंजाब में 2017 में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर आम आदमी पार्टी ने प्रत्‍याशियों की पहली लिस्‍ट गुरुवार को जारी कर दी। इस लिस्‍ट में 19 प्रत्‍याशियों के नाम शामिल हैं। यह लिस्‍ट केजरीवाल की गैर मौजूदगी में जारी किया गया है। बता दें कि दिल्‍ली के सीएम इस वक्‍त विपश्‍यना के लिए छुट्टी पर हैं। आप पंजाब के को-कन्‍वीनर दुर्गेश पाठक भी विपश्‍यना कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी पंजाब में भी दिल्‍ली जैसा करिश्‍मा दोहराने की उम्‍मीद कर रही है।

कैंडिडेट्स और उनका विधानसभा क्षेत्र

अहबाब सिंह ग्रेवाल (लुधियाना पश्‍च‍िम), सज्‍जन सिंह चीमा (सुल्‍तानपुर लोधी), इंदरबीर सिंह निज्‍जर (अमृतसर दक्षिण), मोहन सिंह फलियांवाला (फिरोजपुर ग्रामीण), समरवीर सिंह सिद्धू (फजीलका), राजप्रीत सिंह रंधावा (अंजनाला), जगदीप सिंह बरार (श्री मुक्‍तसर साहिब), गुरदीत सिंह सेखों (फरीदकोट), ब्रिगेडियर राजकुमार (बालाचौर), गुरविंदर सिंह शमपुरा (फतेहगढ़ चूडि़यां), गुरप्रीत सिंह लपरान (पायल), रुपिंदर कौर (बठिंडा), जसवीर सिंह सेखों (धुरी), अमरजीत सिंह (रूप नगर), संतोष सिंह सालाना (बस्‍सी पठाना), एचएस फुलका (दखा), कुलतार सिंह संधवा (कोठापुरा), हरजोत सिंह बेंस (सहनेवाल), हिम्‍मत सिंह शेरगिल (मोहाली)

सीनियर वकील एचएस फुलका और हिम्‍मत सिंह शेरगिल को आम आदमी पार्टी ने अपना कैंडिडेट बनाया है। फुलका आप के टिकट पर लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं, लेकिन उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा था। फुलका पार्टी के कानूनी मामले भी देखते हैं। वे 1984 के सिख दंगों के पीडि़तों को इंसाफ दिलाने के अभियान से जुड़े हुए हैं। वहीं, शेरगिल भी आनंदपुर साहिब से लोकसभा चुनाव में खड़े हुए थे, हालांकि वे हार गए थे। हाल ही में विवादों में रहे भगवंत मान को पंजाब के लिए आप कैंपेन कमेटी का चेयरमैन नियुक्‍त किया गया है। मान ने संसद के अंदर का वीडियो बनाकर फेसबुक पर पोस्‍ट किया था। इसके बाद विभिन्‍न पार्टियों ने उन पर आरोप लगाया कि उन्‍होंने संसद की सुरक्षा से जुड़ी गोपनीय जानकारी वीडियो के जरिए लीक की। मान ने बिना शर्त माफी मांग ली थी। हालांकि, उनके सदस्‍यों की मांग पर लोकसभा स्‍पीकर ने न केवल मान से जवाब तलब किया, बल्‍क‍ि उनके संसद आने पर कुछ दिन के लिए रोक भी लगा दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories