ताज़ा खबर
 

दिल्ली मेरी दिल्ली: बदले मिजाज, बढ़ी हाजिरी और पुलिस को पछाड़ा

केंद्र को लेकर यह विज्ञापन भी जोरदार तरीके से चलाया गया-हम काम करते रहे और वे तंग करते रहे। लेकिन अब यह सब पुरानी बातें हो गई हैं। दिल्ली विधानसभा चुनाव करीब आता देख केजरीवाल और उनकी सरकार केंद्र की भाजपा की अगुआई वाली सत्ता के साथ खड़ी दिखना चाह रही है।

Author नई दिल्ली | Published on: July 1, 2019 3:56 AM
आयुष्मान भारत योजना को सिरे से खारिज करने वाले मुख्यमंत्री अब इसको दिल्ली में लागू करने पर विचार करने का आश्वासन देते दिख रहे हैं।

केंद्र में हुकूमत चला रही भाजपा के खिलाफ आग उगलने वाले सूबे के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल के मिजाज आजकल कुछ बदले-बदले से हैं। लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी दिल्ली में करारी हार का सामना कर तीसरे नंबर पर पहुंच गई है और उसके बाद से भाजपा और इसके नेताओं से दो-दो हाथ करने की केजरीवाल और उनकी पार्टी के नेताओं के तेवर बिल्कुल बदल गए हैं। आजकल मुख्यमंत्री खुद और उनकी सरकार के बाकी मंत्री भी केंद्रीय मंत्रियों के पास जाकर बैठकें कर रहे हैं और यह संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं कि असल में वे केंद्र से लड़कर नहीं, बल्कि मिलकर काम करना चाहते हैं ताकि दिल्ली का विकास हो सके। बीते पांच साल में सूबे की आम आदमी पार्टी सरकार पर ऐसे आरोप लगते रहे कि वह काम करने के बदले केवल केंद्र से लड़ने में यकीन रखती है। केंद्र को लेकर यह विज्ञापन भी जोरदार तरीके से चलाया गया-हम काम करते रहे और वे तंग करते रहे। लेकिन अब यह सब पुरानी बातें हो गई हैं। दिल्ली विधानसभा चुनाव करीब आता देख केजरीवाल और उनकी सरकार केंद्र की भाजपा की अगुआई वाली सत्ता के साथ खड़ी दिखना चाह रही है। आयुष्मान भारत योजना को सिरे से खारिज करने वाले मुख्यमंत्री अब इसको दिल्ली में लागू करने पर विचार करने का आश्वासन देते दिख रहे हैं। उनके इस बदले मिजाज को लेकर उनकी ही पार्टी की विधायक ट्वीट कर रही हैं कि दिल्ली वालों को ‘आप’ का केंद्र के साथ पिछले 54 महीनों का ड्रामा भुलाने के लिए यह सब कवायद हो रही है।

बढ़ी हाजिरी
तपती गरमी में दिन में दफ्तरों में कर्मचारियों की हाजिरी बढ़ी हुई है। यह ही नहीं दफ्तरों में देर तक चहल पहल भी है। यहां तक कि हाफ डे में भी लोग शाम तक रुके रहते हैं। इसकी बेदिल को जो वजह बताई गई उसकी बानगी यह है कि इसकी वजह है दिल्ली की झुलसा देने वाली गर्मी। एक कर्मचारी ने कहा कि दिन में बाहर इतनी धूप रहती है, घर पर बिजली का भारी खर्च आने की चिंता व धूप में तबीयत खराब होने के डर से वे सुबह ही दफ्तर आ जाते हैं और तब तक नहीं हिलते जब तक कि शाम का धुंधलका न हो जाए। एक कर्मचारी ने कहा कि घर पर रहा नहीं जाता जबकि कूलर भी लगा रखा है। एक तो भीषण गर्मी ऊपर से लू से बढ़कर गरम हवा फेंकता मकान मालिक का एसी। मकान मालिक नीचे के तले पर रहते हैं सो उनके एसी के गरम हवा से हमारा कूलर हमें झुलसाता रहता है। अब मकान मालिक का विरोध तो कर नहीं सकते। बस यही हो सकता है कि कि दफ्तर में ही रुके रहते हैं।

पुलिस को पछाड़ा
दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने स्थानीय पुलिस को पछाड़ते हुए एक बार फिर से बाजी मार ली है। इस बार वसंत कुंज में तिहरे हत्याकांड में वसंत विहार थाना पुलिस हत्यारों की तलाश में अंधेरे में ही तीर चलाती रही। वहीं, अपराध शाखा ने हत्या के मामले में शामिल एक महिला और उसके प्रेमी को गुरुग्राम से गिरफ्तार कर लिया। यही नहीं, जहां स्थानीय पुलिस लूटपाट के बाद हत्या की घटना से इनकार करते रही और कहा कि घर में रुपए सकुशल मिले हैं। वहीं, अपराध शाखा ने मामले का खुलासा करते हुए कहा कि इस वारदात के पीछे लूटपाट का विरोध करना था। इस घटना से एक बात साफ हो गया है कि दिल्ली पुलिस के दो विभागों में कितना सामांजस्य है। दो विभाग में आपस में सामांजस्य नहीं होने का नतीजा है कि एक विभाग लूटपाट से इनकार करते रही और दूसरे विभाग ने लूटपाट ही कारण बताया।
-बेदिल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली मेरी दिल्ली: जोड़ी कारगर और दीक्षित की मंडली
2 डीएम ने पत्रकारों को कर दिया कमरे में बंद, ताकि सीएम योगी आदित्यनाथ से ना पूछ सकें बदहाल अस्पताल से जुड़े सवाल
3 Pune: दीवार गिरने से दबे मजदूर की दर्दनाक दास्तां, मदद के लिए चिल्लाना चाहते थे लेकिन खो गई थी आवाज
ये पढ़ा क्या?
X