ताज़ा खबर
 

AAP नेता कपिल मिश्रा की कविता पर विवाद जारी, DOT अधिकारी ने दिल्ली पुलिस को लिखा शिकायती पत्र

वीडियो में कपिल कहते नजर आ रहे हैं- मोदी जी तुम उनको देखो जो दुश्मन है सीमा पार। बाकी जनता निपटा देगी घर में छिपे हुए गद्दार।

कपिल मिश्रा (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस )

आम आदमी पार्टी के बागी नेता कपिल मिश्रा ने सोशल मीडिया पर एक कविता पोस्ट की है जिससे विवाद बढ़ता नजर आ रहा है। बताया जा रहा है कि मिश्रा ने कविता में देशद्रोहियों पर हमले की वकालत करते हुए उन्हें घर से निकाल कर सड़क तक लाने की बात कही है। अपनी कविता में पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कमल हासन, बरखा दत्त और कविता कृष्णन आदि पर जमकर निशाना साधा और इन्हें देशद्रोही बताया। जिसके बाद केन्द्र दूरसंचार विभाग के आशीष जोशी ने मामले की शिकायत करते हुए दिल्ली पुलिस चीफ को पत्र लिखा।

क्या है पूरा मामला: आप पार्टी के कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर करीब अपना दो मिनट का एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो को कपिल ने कैप्शन दिया है- खींच निकालो बीच सड़क पर घर में छिपे हुए गद्दार।इसके साथ ही वीडियो में कपिल कहते नजर आ रहे हैं- मोदी जी तुम उनको देखो जो दुश्मन है सीमा पार। बाकी जनता निपटा देगी घर में छिपे हुए गद्दार। इसके साथ ही उन्होने लोगों द्नारा कश्मीरी पत्थरबाजों को बेगुनाह कहने पर ऐतराज जताया, फेसबुक पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, पीएम मोदी के खिलाफ अफवांए और अलीगढ़ मुसलिम यूनिवर्सिटी में तिरंगा लहराने पर एतराज जताने वालों की जमकर आलोचना की है। कविता के अंत में उन्होने देशद्रोहियों को घर मे घुसकर वार करने औेर उन्हें खींचकर सड़क पर लाने की बात कही।

मिश्रा के खिलाफ पुलिस में शिकायतः कपिल मिश्रा के कविता के खिलाफ DoT के संचार नियंत्रक आशीष जोशी ने दिल्ली पुलिस चीफ अमूल्य पटनायक को पत्र लिखकर शिकायत की है। शिकायत करते हुए उन्होंने आईपीसी और आईटी धारा के तहत आरोप लगाया कि मिश्रा कुछ खास लोगों पर वार करने के लिए जनता को भड़का रहे है। बता दे कि जोशी को एक पत्रकार ने ट्विटर पर कपिल मिश्रा के वीडियो पर टैग किया था, जिसपर कारवाई करते हुए उन्होने पुलिस से शिकायत की। मिश्रा ने जोशी के आरोप को बेबुनियाद बताया और कहा की उनकी कविता को तोड़मरोड़ कर पेश किया जा रहा है।

 

आरोप पर मिश्रा की सफाईः कपिल मिश्रा ने अपने खिलाफ हुए शिकायत मे सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं कहा है। उनका कहना है कि वह अपनी कविता के माध्यम से देशद्रोहियों को बेनकाब कर रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App