ताज़ा खबर
 

बिगड़ती कानून व्यवस्था पर भाजपा को घेरा, राजधानी में 24 घंटे में 9 हत्याओं पर ‘आप’ ने उठाए सवाल

आतिशी ने कहा कि दिल्ली को हमेशा से बहुत ही असुरक्षित प्रदेश के तौर पर जाना जाता है। यहां रहने वाली महिलाएं रात को आठ बजे के बाद घर से बाहर निकलने में डर महसूस करती हैं। ऐसे में आज सूबे की जनता के सामने सुरक्षा का मसला सबसे ज्यादा अहम हो गया है।

Author नई दिल्ली | June 24, 2019 2:56 AM
आतिशी मार्लेना, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

आम आदमी पार्टी (आप) ने राजधानी में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को जिम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाया कि दिल्ली में अपराधी बेखौफ अपराध कर रहे हैं और कानून व्यवस्था की स्थिति दिन-प्रतिदिन बद से बदतर होती जा रही है। पार्टी का कहना है कि चाहे गृह मंत्री हों, उपराज्यपाल हों या सांसद हों, सभी जवाबदेह लोग भाजपा से ताल्लुक रखते हैं। लिहाजा वह पार्टी से राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर जवाब चाहती है। पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता आतिशी ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि राजधानी में पिछले 24 घंटे में 9 हत्याएं हो चुकी हैं। ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। पिछले कई हफ्तों से देखा जा रहा है कि दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था, कानून व्यवस्था दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है। चाहे वह हत्याओं के मामले हों या मुखर्जी नगर में पुलिस की ओर से ऑटो चालक को गुंडों की तरह पीटने का मामला हो।

आतिशी ने कहा कि दिल्ली को हमेशा से बहुत ही असुरक्षित प्रदेश के तौर पर जाना जाता है। यहां रहने वाली महिलाएं रात को आठ बजे के बाद घर से बाहर निकलने में डर महसूस करती हैं। ऐसे में आज सूबे की जनता के सामने सुरक्षा का मसला सबसे ज्यादा अहम हो गया है। उन्होंने कहा कि आज दिल्ली की जनता अपने घर में भी सुरक्षित नहीं है। दिल्ली के वसंत कुंज के अलावा एक और मामला सामने आया, जिसमें एक व्यक्ति ने अपने ही घर में 4 लोगों की हत्या कर दी। दूसरी ओर द्वारका में घर के अंदर ही एक दंपति की हत्या कर दी गई। आतिशी ने कहा कि इन हत्याओं के अलावा एक बड़ा ही चौंकाने वाला आंकड़ा और सामने आया है। पिछले 30 दिनों के अंदर राजधानी के अलग-अलग क्षेत्रों में अपराधियों द्वारा 220 गन शॉट्स की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। उन्होंने जानना चाहा कि आखिर इस बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार है? इसका सीधा जवाब है कि इस बदतर हालत के लिए सिर्फ सिर्फ भाजपा जिम्मेदार है क्योंकि स्थानीय स्तर पर कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी एक सांसद की होती है जो कि जिला स्तरीय पुलिस कमेटी का सदस्य होता है। आज दिल्ली में सातों सांसद भाजपा के हैं। दूसरी जवाबदेही उपराज्यपाल की होती है, वह भी भाजपा द्वारा चयनित हैं और तीसरी जिम्मेदारी गृह मंत्री की होती है, वह भी भाजपा के ही हैं।

आतिशी ने कहा कि हम भाजपा की अगुआई वाली केंद्र की सरकार से जानना चाहते हैं कि वह दिल्ली की जनता की सुरक्षा के लिए सरकार क्या नीतियां बना रही है? सरकार की क्या जिम्मेदारी होगी? उपराज्यपाल की क्या जिम्मेदारी होगी? भाजपा के सातों सांसदों की क्या जिम्मेदारी होगी और गृह मंत्रालय की क्या जिम्मेदारी होगी? उन्होंने कहा कि भाजपा को बताना पड़ेगा कि वह दिल्ली की जनता की सुरक्षा किस प्रकार से सुनिश्चित करेगी। क्योंकि आज दिल्ली की जनता, सड़कों पर ही नहीं, अपने घर के भीतर भी खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है।

मुख्यमंत्री ने जताई चिंता: राजधानी में बीते 24 घंटों में नौ हत्याओं को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गंभीर चिंता जताई है। राजधानी में जघन्य हत्याओं में इजाफे को लेकर केजरीवाल ने पूछा है कि आखिर दिल्ली वालों की सुरक्षा के लिए किसका दरवाजा खटखटाया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रविवार को एक ट्वीट में कहा कि दिल्ली में जघन्य आपराधिक घटनाओं की संख्या में खतरनाक तरीके से वृद्धि दर्ज की जा रही है। एक बुजुर्ग दंपति व उनके घरेलू सहायक की वसंत विहार में हत्या कर दी गई। शहर में बीते 24 घंटों में नौ हत्याएं हो चुकी हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दो महीने बाद भी बिहार पुलिस के लिए मिस्ट्री बनी है भागलपुर का ‘तेजाब कांड’, 37 दिन बाद पीड़िता की मौत
2 Rajasthan: बाड़मेर में रामकथा सुनने गए लोगों पर आंधी-तूफान का कहर, पंडाल गिरा, करंट लगने से 14 की मौत
3 मध्य प्रदेश की नीमच जेल से फरार हुए 4 कैदी, पुलिस ने घोषित किया 50-50 हजार का इनाम
ये पढ़ा क्या?
X