ताज़ा खबर
 

दिल्ली की सड़कों की सफाई करने उतरे मंत्री, हटाए ढेर लगे कूड़े के अंबार

समय पर वेतन भत्ते और नगर निगम को एक करने की मांग को लेकर भाजपा शासित नगर निगमों के 60 हजार से अधिक सफाई कर्मचारियों की हड़ताल रविवार को पांचवें दिन भी जारी रही।

Author नई दिल्ली | February 1, 2016 01:04 am
राजधानी की सड़कों की सफाई करने उतरे मंत्री (File Pic)

समय पर वेतन भत्ते और नगर निगम को एक करने की मांग को लेकर भाजपा शासित नगर निगमों के 60 हजार से अधिक सफाई कर्मचारियों की हड़ताल रविवार को पांचवें दिन भी जारी रही। निगम कर्मचारियों के डटे रहने और दिल्ली में कूड़े के अंबार लग जाने से बेचैन दिल्ली के मंत्री, आम आदमी पार्टी के विधायक और सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ता रविवार को कई इलाकों में जमा कूड़े को हटाने के लिए सड़कों पर उतरे। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने हालात से निपटने के लिए अधिकारियों के साथ आपात बैठक की।

सफाई कर्मचारियों का कहना है कि वे उनकी ‘न्यायसंगत’ मांगों के पूरा होने तक अपना विरोध जारी रखेंगे। उन्होंने चेताया कि सरकार के सफाई अभियान में पीडब्ल्यूडी टीमों को लगाने से शहर की स्थिति बिगड़ सकती है। आप विधायक, पार्टी कार्यकर्ता पीडब्ल्यूडी और जल बोर्ड के कार्यकर्ताओं के साथ मिल कर रविवार को सफाई अभियान में शामिल हुए। शनिवार को विशेष रूप से पूर्वी और उत्तरी दिल्ली में कूड़ा हटाने के काम में लगाया गया था, जहां हड़ताल का सबसे ज्यादा असर है। पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन ने अपने आवास पर उत्तरी और पूर्वी नगर निगम के आयुक्तों से मुलाकात की।

सरकारी अस्पतालों के डाक्टरों की हड़ताल के बीच, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने रविवार को स्थिति का जायजा लेने और समाधान पर चर्चा के लिए पूर्वी और उत्तरी दिल्ली नगर निगमों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आपातकालीन बैठक की। दिल्ली सरकार के अधिकारियों के मुताबिक दो नगर निगमों के आयुक्तों ने जैन को बताया कि निगम अस्पतालों के डाक्टरों ने हड़ताल में भाग नहीं लिया है। इस दावे को मेडिकल कर्मियों के एक संगठन ने खारिज कर दिया।

जैन ने स्थिति का जायजा लेने के लिए बैठक बुलाई थी। बैठक के दौरान, आयुक्तों ने उन्हें जानकारी दी कि एमसीडी डाक्टरों ने हड़ताल में भाग नहीं लिया है और वे अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। जैन ने निगम डाक्टरों के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की सूरत में तैयारियों पर चर्चा के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बात की। निगम डाक्टरों के एक संगठन का कहना है कि वे अपनी हड़ताल जारी रखे हुए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App