ताज़ा खबर
 

कांग्रेस की किरकिरी, ब्लॉक पदाधिकारियों की जारी सूची में शामिल कर डाला AAP नेता का नाम

कांग्रेस की तरफ से इस पर कहा गया कि, जीटीबी नगर के ब्लॉक प्रेसीडेंट के लिए विनोद बजाज का नाम चुना गया था लेकिन टाइपिंग की वजह से गलती हो गई और विपिन खन्ना का नाम छप गया।

Author January 9, 2019 11:45 AM
कांग्रेस पार्टी का झंडा। (फोटो सोर्स : Indian Express)

कांग्रेस ने एक नया कारनाम कर डाला है। जिसके चलते पार्टी की किरकिरी हो रही है। कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के एक नेता का नाम अपने पदाधिकारियों की सूची में शामिल कर लिया। यह लिस्ट सोमवार को जारी की गई थी। दिल्ली कांग्रेस की जारी की गई ब्लॉक प्रेसीडेंट्स की लिस्ट में ‘आप’ के नेता विपिन खन्ना को भी जिम्मेदारी सौंप दी।

कांग्रेस ने ‘आप’ नेता खन्ना को जीटीबी नगर से ब्लॉक प्रेसीडिटेंट बनाया है। मामले पर हंगामा मंगलवार को मचा। जब विपिन खन्ना आप के एक अन्य नेता के साथ प्रेस कांफ्रेस में मौजूद थे। एआईसीसी इन चार्ज पी सी चाको भी उस वक्त मौजूद थे, जब पार्टी ने अपने ब्लॉक प्रेसीटेंट्स की सूची जारी की थी। पार्टी ने 60 ब्लॉक प्रेसीटेंट्स की लिस्ट जारी की। हालांकि खन्ना पहले कांग्रेस पार्टी में रहे हैं। उन्होंने करीब डेढ़ साल पहले ही आम आदमी पार्टी ज्वाइन कर ली थी। खन्ना कांग्रेस की तरफ से मॉडल टाउन में वार्ड इंचार्ज थे।

वहीं, कांग्रेस की किरकिरी होने पर पार्टी की तरफ से इस पर सफाई दी गई। कांग्रेस की तरफ से इस पर कहा गया कि, जीटीबी नगर के ब्लॉक प्रेसीडेंट के लिए विनोद बजाज का नाम चुना गया था लेकिन टाइपिंग की वजह से गलती हो गई और विपिन खन्ना का नाम छप गया। पार्टी ने जोर देते हिए कहा कि, हम फिर से दोहरा रहे हैं कि विनोद बजाज ही जीटीबी नगर से विनोद बजाज ब्लॉक कांग्रेस कमिटी के प्रसीडेंट बनाए गए हैं।

इस मुद्दे पर मॉडल टाउन से आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी ने कहा कि, दिल्ली में कांग्रेस की हालत खराब है। अब स्थिति यह आ गई है कि उन्हें शहर भर में वार्ड प्रेसीडेंट के लिए नाम ढूंढ़े नहीं मिल रहा है। आम आदमी पार्टी की तरफ से यह टिप्पणी उस समय आई है जब आप और कांग्रेस के बीच लोकसभा चुनाव को लेकर गठबंधन की अटकलें तेज हैं। हालांकि बीते दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी काग्रेस पर निशाना साधा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App