ताज़ा खबर
 

कांग्रेस प्रवक्ता से बोलीं अंजना ओम कश्यप, रोना बंद करें, सपा नेता ने कहा- योगी भी करने लगे केंद्र की पैरवी

गौरव वल्लभ कहने लगे, गृह मंत्री को लिखकर बताना चाहिए कि किन-किन लोगों की जासूसी हुई। क्यों जासूसी की गई। हर व्यक्ति का अधिकार है कि उसे पता चले कि क्यों जासूसी की जा रही है।

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने बेरोजगारी को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोेला। (फोटो- एजेंसी)

पेगासस सॉफ्टवेयर से जासूसी मामले में बहस के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव वल्लभ ऐंकर अंजना ओम कश्यप पर भड़क गए। इसके बाद अंजना ने भी तीखे शब्दों में उन्हें सुना दिया। गौरव ने कहा, क्या आप मेरे मन की जासूसी करती हैं?

गौरव वल्लभ पर तीखे तेवर दिखाते हुए TV डिबेट में अंजना ओम कश्यप बोली ” क्या हो गया गौरव वल्लभ आपको, फिर वही रोना धोना फिर वही विक्टिम कार्ड। आप सरकार को सदन में क्यों नहीं घेरते हैं। आपको हंसी आ रही है तो हंसिए।”

इसके बाद गौरव वल्लभ कहने लगे, गृह मंत्री को लिखकर बताना चाहिए कि किन-किन लोगों की जासूसी हुई। क्यों जासूसी की गई। हर व्यक्ति का अधिकार है कि उसे पता चले कि क्यों जासूसी की जा रही है। प्रवक्ता कह रहे हैं कि उन्हें नहीं पता कि पेगासस क्या है। इस बात पर भाजपा नेता नलिन कोहली भी हंसने लगे। गौरव वल्लभ लगातार बोलते रहे।

उन्होंने कहा, हम ऊब गए हैं फालतू की बातें सुनकर। आप बताएं कि पेगासस खरीदा गया या नहीं। मोदी जी और अमित शाह जी इस पर क्यों बयान नहीं देते। नए संचार मंत्री कहते हैं कि उन्हें पेगासस के बारे में पता ही नहीं है।

इसके बाद डिबेट में आगे BJP प्रवक्ता नलिन कोहली बोले कि आप सांसदों से कहिए ये सवाल जा कर संसद में प्रधानमंत्री से पूछें कि pegasus का क्या मामला है।

वहीं एसपी प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने यूपी मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते नजर आए की “यूपी के मुख्यमंत्री यूपी के विकास का काम छोड़ , लोगों के विकास का काम छोड़ केन्द्र सरकार की बैटिंग करने में लग गए, कमाल के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं।”

अनुराग भदौरिया ने कहा, वो कह रहे हैं कि विपक्ष नकारात्मक राजनीति कर रहा है। वह कौन सा सकारात्मक काम कर रहे हैं। उधर शिवराज सिंह चौहान भी डिफेंड करने का प्रयास कर रहे हैं। इसके बाद अंजना ने भदौरिया से कहा कि अगर अखिलेश जी ट्वीट कर सकते हैं तो योगी क्यों नहीं कर सकते? अनुराग भदौरिया ने जवाब दिया, जब उन्हें बोलना चाहिए था तब तो वे घर से नहीं निकलते थे।

Next Stories
1 योगी सरकार से रोजगार मांगने पहुंचे, पुलिस ने भांजी लाठी तो लगा दी गोमती में छलांग
2 साहिबगंज-किउल रेलखंड का हुआ विद्युतीकरण, फिर भी नहीं बढ़ी ट्रेनों की रफ्तार; घंटों का समय हो रहा बर्बाद
3 तेल के रेट बढ़ रहे, पर कभी गौर नहीं किया…क्या करना चाहिए इस पर सोचा नहीं गया- साफगोई से बोले बिहार CM नीतीश कुमार
ये पढ़ा क्या ?
X