ताज़ा खबर
 

कहासुनी के बाद गोली मारकर युवक की हत्या, एक घायल

मृतक की पहचान सुमित के रूप में हुई है। फिलहाल पुलिस ने गोली चलाने के आरोपी 37 साल के संदीप गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि वारदात में शामिल अन्य आरोपी सचिन और आशीष की तलाश की जा रही है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को सौंप दिया है।

सुमित की फाइल फोटो।

महरौली में मामूली कहासुनी के बाद शुक्रवार देर रात एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी गई। वारदात में एक अन्य युवक घायल भी हुआ है। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल नितिन को अस्पताल में भर्ती करा दिया है। मृतक की पहचान सुमित के रूप में हुई है। फिलहाल पुलिस ने गोली चलाने के आरोपी 37 साल के संदीप गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि वारदात में शामिल अन्य आरोपी सचिन और आशीष की तलाश की जा रही है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को सौंप दिया है। दक्षिणी जिला पुलिस उपायुक्त रोमिल बानिया के मुताबिक, शुक्रवार रात 11.30 बजे सूचना मिली थी कि छतरपुर एंक्लेव में रहने वाले सुमित और नितिन किसी शादी समारोह से घर लौट रहे थे। इस दौरान वह घर के पास ही एक नुक्कड़ पर खड़े थे। तभी संदीप गुप्ता, आशीष कोचर और सचिन भी वहां आ गए।

बताया जा रहा है कि सभी ने काफी शराब पी रखी थी। इस दौरान दोनों पक्षों में मामूली सी बात पर कहासुनी हो गई। देखते ही देखते उनमें कहासुनी होने लगी और काफी हाथापाई भी हुई। इसी बीच संदीप ने पिस्तौल से सुमित पर गोली चला दी। उसे दो गोलियां लगीं, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वारदात में नितिन को भी चोटें पहुंची हैं। पुलिस ने मामले के आरोपी संदीप गुप्ता को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया, जबकि फरार आशीष कोचर और सचिन की तलाश की जा रही है। बताया जा रहा है कि सभी लोग मूल रूप से फतेहपुर बेरी गांव के रहने वाले हैं।

झगड़े के बाद पत्नी ने फांसी लगाकर दी जान

सीमापुरी इलाके में एक महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। माना जा रहा है कि महिला की पति से लड़ाई हुई थी। इस वजह से उसने यह कदम उठाया है। महिला की पहचान 30 साल की शहनाज के रूप में हुई है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम करवाने के लिए अस्पताल भेज दिया है और आगे की छानबीन कर रही है। मिली जानकारी के मुताबिक शहनाज झुग्गी नंबर- 42, जैन मंदिर, दिलशाद कॉलोनी में रहती थी। परिवार में पति अली हसन, पांच बेटें और बेटी हैं।

परिजनों ने बताया कि शुक्रवार शाम को वह अपने भाई के घर जवाहर पार्क गई थीं। वहां से उसे आने में थोड़ी देर हो गई। इसी बात को लेकर अली हसन उससे लड़ने लगा। इसके बाद वह अपनी दुकान पर चला गया। शहनाज ने बच्चों को घर से बाहर निकालकर फांसी लगा ली। बच्चों ने सूचना अपने पिता को दी। परिजन शहनाज को अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App