ताज़ा खबर
 

सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा के नाम से बनाया था अकाउंट, शरद पवार को भेजता था मैसेज, गिरफ्तार

पुलिस उपायुक्त ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि अंधेरी में रहने वाले इस व्यक्ति ने हिन्दी फिल्म जगत के कई सितारों का फर्जी एकाउंट भी बना रखा था।

Author मुंबई | February 8, 2018 3:32 PM
सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर। (Source: BCCI/IPL)

महान क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर का कथित तौर पर फर्जी ट्वीटर एकाउंट बनाने और राकांपा प्रमुख शरद पवार के खिलाफ दुर्भावनापूर्ण सामग्री अपलोड करने वाले एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस उपायुक्त (साइबर अपराध) अकबर पठान ने बताया कि साइबर पुलिस ने दो दिन पहले नितिन शिसोदे (39) को गिरफ्तार कर लिया। पठान ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि अंधेरी में रहने वाले इस व्यक्ति ने हिन्दी फिल्म जगत के कई सितारों का फर्जी एकाउंट भी बना रखा था। उन्होंने बताया कि साइबर अपराध शाखा की टीम ने नितिन शिसोदे के आवास से एक लैपटॉप, दो मोबाइल फोन और राउटर जब्त किया।

उन्होंने बताया कि कंप्यूटर और इंटरनेट से संबंधित व्यापार करने वाले शिसोदे को आईपीसी और आईटी कानून के तहत प्रतिरूपण, धोखाधड़ी और मानहानि का मामला दर्ज किया गया है। उसे एक स्थानीय अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे शुक्रवार तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिछले साल अक्टूबर में सारा तेंदुलकर के फर्जी एकाउंट से एक ट्वीट किया गया था जिसमें पवार को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणियां की गई थीं।

उन्होंने बताया कि तेंदुलकर के निजी सहायक की शिकायत के आधार पर साइबर थाना में एक मामला दर्ज किया गया था। अधिकारी ने बताया कि तेंदुलकर के सहयोगी ने शिकायत की थी कि किसी ने विदेश में पढ़ाई कर रही सारा तेंदुलकर का एक फर्जी ट्वीटर एकाउंट बना लिया है। वहीं दूसरी तरफ, सचिन तेंदुलकर ने कुछ दिनों पहले बीसीसीआई से आग्रह किया था कि वह भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट संघ (केबी) को अपने संरक्षण में लेकर इसके खिलाड़ियों को बोर्ड की पेंशन योजना के तहत ले आए।

तेंदुलकर ने प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष विनोद राय को पत्र लिखकर केबी को मान्यता देने की अपील की थी। भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट टीम ने 20 जनवरी को पाकिस्तान को हराकर विश्व कप जीता था। तेंदुलकर ने लिखा था, ‘‘हमने लगातार चौथी बार नेत्रहीन विश्व कप जीता। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट संघ को बीसीसीआई से मान्यता देने पर विचार करें।’’ टीम के जुझारूपन की तारीफ करते हुए उन्होंने इसे दूसरों के लिए मिसाल बताया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App