ताज़ा खबर
 

Mumbai Bridge Collapse: रीकॉल- CST ब्रिज हादसे ने दिलाई Elphinstone हादसे की याद, एक दूसरे पर चढ़ने से कई थीं 22 जान

Mumbai CST bridge collapse: गुरुवार को सीएसटी के पास फुट ओवर ब्रिज गिर गया। इस घटना में 6 लोगों की मौत हो गई जबकि 31 लोग घायल हो गए। बता दें 29 सितंबर 2017 को एलफिंस्टन रोड स्टेशन पर फुट ओवर ब्रिज गिरने से वहां भगदड़ मच गई थी।

एलफिंस्टन हादसा, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Mumbai CST bridge collapse:  गुरुवार (14 मार्च) को मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन के पास फुटओवर ब्रिज गिर गया। इस घटना में 6 लोगों की मौत हो गई जबकि 31 लोग घायल हो गए। इस हादसे ने करीब 2 साल पहले पहले मुंबई के ही एलफिंस्टन रोड स्टेशन पर हुए हादसे की याद दिला दी है।

कब हुआ था हादसा: बता दें कि 29 सितंबर 2017 को एलफिंस्टन रोड स्टेशन पर फुट ओवर ब्रिज गिरने से वहां भगदड़ मच गई थी। जिसमें 22 लोगों की मौत हुई थी वहीं करीब 39 लोग घायल हुए थे। इस घटना को सबको झकझोर कर रख दिया था। इस हादसे के बाद जहां घायल होने की वजह से कुछ लोगों की नौकरी चली गई थी तो वहीं कई लोगों को मन में पुलों पर सफर न करने का डर बैठ गया था।

एलफिंस्टन जांच में क्या आया था सामने: एलफिंस्टन जांच के बाद मुंबई पुलिस ने बताया था कि भगदड़ की दो प्रमुख वजहें थीं। एक बारिश जिस वजह से अधिक लोग फुटओवर ब्रिज पर जमा हो जाते थे और दूसरा लोकल ट्रेन्स की भीड़।

फूल गिर गया- पुल गिर गया: इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस रिपोर्ट में एक और वाकया सामने आया था कि हादसे के कुछ ही सेकेंड पहले एक दुकानदार ने कहा था कि ‘फूल गिर गया’ लेकिन आस पास के लोगों ने समझा की ‘पुल गिर गया’। उस ही वक्त इत्तेफाक से एक लड़की पुल की सीढ़ियों से गिर गई। जिससे सबको पुल गिर गया की बात पर यकीन हो गया और भगदड़ मच गई। ऐसे में अपनी जान बचाने के लिए हर कोई इधर ऊधर भागने लगा। ये सब दस मिनट तक चलता रहा।

रेलवे का क्या था रिस्पॉन्स: रेलवे अधिकारियों को मध्य और पश्चिमी रेलवे दोनों पर 10 नए एफओबी के निर्माण का आदेश दिया गया था, जिनमें से तीन भारतीय सेना द्वारा बनाए गए थे। इसके साथ ही रेलवे क्लेम ट्रिब्यूनल (आरसीटी) ने छत्तीस पीड़ितों को मुआवजा दिया, जो बच गए थे।वहीं 17 मृतकों के परिजनों को 8 लाख रुपये का अनुदान दिया गया था। साधारण चोटिल लोगों को लगभग 25,000 रुपये मिलते थे, और जो लोग गंभीर रूप से घायल होते थे उनकों उनकी चोटों के मुताबिक पैसा मिला था।

एलफिंस्टन भगदड़ के बाद बाटा गया था बजट: एल्फिंस्टन रोड स्टेशन भगदड़ के बाद प्रस्तावित पहले बजट में, शहर में फुट ओवरब्रिज के लिए सबसे अधिक आवंटन किया गया था। इसने पुलों के निर्माण और यात्रियों के लिए सुविधाएं प्रदान करने के लिए 880 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे। जिसमें सेंट्रल रेलवे को 42 ब्रिज बनाने के लिए 450 करोड़ (मुंबई उपनगरीय के लिए 21) और वेस्टर्न रेलवे को 43 ब्रिज बनाने के लिए 430 करोड़ मिले थे।

 

घटना के पांच महीने बाद बना था पुल: घटना के पांच महीने बाद, भारतीय सेना द्वारा निर्मित एक नया फुट ओवरब्रिज जनता के लिए खोल दिया गया था। मध्य और पश्चिम रेलवे पर नए एल्फिंस्टन रोड पुल, पूर्व की तरफ मध्य रेलवे के परेल स्टेशन और पश्चिम की ओर एल्फिंस्टन रोड स्टेशन के बाहर फूलवाली लेन को जोड़ता है। वहीं परेल, क्यूरी रोड और अंबिवली स्टेशनों पर तीन अन्य पुलों का भी निर्माण किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App