ताज़ा खबर
 

बारिश नहीं हुई तो भगवान पर आया गुस्सा, मंदिर में जाकर ले लिया ‘बदला’

सीसीटीवी में आरोपी भगवा रंग के कपड़े पहने हुए है और हाथ में कुल्हाड़ी लिया हुए दिख रहा है। उसने मूर्ति तोड़ने के अलावा मंदिर में लगे गमले और पौधों को भी नुकसान पहुंचाया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्सः एजेंसी)

दिल्ली में तेज गर्मी और धूप से परेशान एक व्यक्ति को इतना गुस्सा आया कि वह भगवान से ही नाराज हो गया। गुस्से में उसने बदला लेने के लिए पड़ोस के एक मंदिर पर गया और एक मूर्ति को तीन स्थानों पर तोड़ दी। घटना दक्षिण पश्चिम दिल्ली के ककरौला क्षेत्र की है। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक भारत विहार जेजे कॉलोनी निवासी 50 वर्षीय महेश उर्फ भूत मोची का काम करता है। वह पिछले कई दिनों से तेज गर्मी और धूप से परेशान था। मंगलवार को वह इतना ज्यादा परेशान हो गया कि बेचैन हो गया। इससे उसको भगवान पर बहुत तेज गुस्सा आया। इस दौरान वह गुस्से में पास के एक मंदिर में गया और भगवान की मूर्ति को तीन स्थानों पर तोड़ डालीं। मंदिर के पुजारी ने टूटी मूर्तियां देखीं तो आसपास के लोग भड़क उठे और सड़क पर जाम लगा दिया। लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच-पड़ताल की।

द्वारका क्षेत्र के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस संतोष कुमार मीना ने बताया कि सुबह करीब पौने आठ बजे सूचना मिलने के बाद पुलिस की एक टीम को मौके पर भेजा गया। आसपास के लोगों से पूछताछ करने पर पास में लगे सीसीटीवी से पता चला कि महेश ने मूर्तियां तोड़ी है। कैमरे में वह भगवा रंग के कपड़े पहने हुए है और हाथ में कुल्हाड़ी लिया हुए दिख रहा है। उसने मूर्ति तोड़ने के अलावा मंदिर में लगे गमले और पौधों को भी नुकसान पहुंचाया है। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में उसने बताया कि बारिश नहीं होने से उसे भगवान के ऊपर गुस्सा आ गया। इसीलिए उसने बदला ले लिया।

डीसीपी संतोष कुमार मीणा ने बताया कि आरोपी महेश के खिलाफ पुजारी की ओर से आईपीसी की धारा 295 (धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्थल को नुकसान पहुंचाना) और 295 ए (धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करके किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज कराया गया है। घटना में इस्तेमाल कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली गई है।

Next Stories
1 कहां हुआ था हनुमान का जन्म? दो राज्यों में विवाद, ISRO के वैज्ञानिक भी देंगे रिपोर्ट
2 राकेश टिकैत ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, धरनास्थल के पास ही अस्पताल में टीकाकरण
3 कहां गए वो लोग जो अपनों के खिलाफ भी मोर्चा लेते थे? जब अटल सरकार के पीछे पड़ गए थे दत्तोपंत ठेंगड़ी
ये  पढ़ा क्या?
X