ताज़ा खबर
 

शादी समारोह में दलित युवक ने खाया भोज, कुर्सी पर भी बैठा- दबंगों ने कर दी पिटाई, मौत

स्थानीय पुलिस के मुताबिक मामले में 29 अप्रैल को ही स्थानीय सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया था। मृतक इलाके के ही बासन गांव का रहने वाला था। मृतक की बहन के मुताबिक जितेंद्र परिवार का इकलौता कमाऊ सदस्य था। वह बढ़ई का काम करता था।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल जिले में एक दलित युवक के लिए ऊंची जाति के लोगों के सामने कुर्सी पर बैठना और शादी समारोह में भोज खाना काल बन गया। दबंगों ने इससे नाराज होकर उस युवक की इतनी पिटाई की कि उसकी मौत हो गई। मामला पिछले महीने की 26 अप्रैल का है। टिहरी गढ़वाल के श्रीकोट इलाके में उस रात शादी में 21 वर्षीय जितेंद्र दास शामिल हुआ था। दबंगों की पिटाई के अगले दिन यानी 27 अप्रैल को घायल युवक को देहरादून के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन इलाज के दौरान सात दिन बाद उसने रविवार (05 मई) को दम तोड़ दिया।

स्थानीय पुलिस के मुताबिक मामले में 29 अप्रैल को ही स्थानीय सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया था। मृतक इलाके के ही बासन गांव का रहने वाला था। मृतक की बहन के मुताबिक जितेंद्र परिवार का इकलौता कमाऊ सदस्य था। वह बढ़ई का काम करता था। उसके घर में एक मां, एक बड़ी बहन और एक छोटा भाई है। जितेंद्र के चाचा इलम दास ने एचटी मीडिया को बताया कि 26 अप्रैल को पूरा परिवार दूर के रिश्तेदार की एक शादी में गए थे। बतौर इलम दास जितेंद्र शादी समारोह में किनारे बैठकर भोजन कर रहा था। उन्होंने बताया कि शादी समारोह में खाना खाने के बाद वो अपने घर को लौट आए लेकिन अगली सुबह तब पता चला कि जितेंद्र के साथ मारपीट हुई है, जब वह बेहोश मिला। इसके बाद उसे तुरंत नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जितेंद्र के जिस दोस्त ने उसे बचाने की कोशिश की थी, उसने बताया कि शादी की जगह दबंगों ने मारपीट की थी, उसके बाद जब वह घर लौट रहा था, तब रास्ते में भी दबंगों ने उसके साथ मारपीट की थी। उसने बताया कि शादी की रात दबंग लोगों ने जितेंद्र के साथ गालीगलौच की थी और मारपीट करते हुए खाने की प्लेट छीन लिया था। उस वक्त ये लोग जातिसूचक गाली दे रहे थे और ऊंची जाति के लोगों के सामने कुर्सी पर बैठने का बहाना बनाकर मारपीट करने लगे थे। उसने बताया कि दबंगों ने उसे भी गाली दी थी। उसके बाद वो वहां से चला गया। जितेंद्र के चचेरे भाई प्रीतम दास ने भी घटना की पुष्टि की है। वह भी शादी समारोह में शामिल था और उस वक्त वहीं था। बतौर प्रीतम दबंगों ने जितेंद्र के सिर और प्राइवेट पार्ट पर वार किया था। प्रीतम भी उन लोगों का शिकार बना था लेकिन वो किसी तरह वहां से भागने में कामयाब रहा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शादी से पहले साधना से छुप-छुपकर मिलते थे शिवराज, चिट्ठी लिखकर किया प्यार का इजहार
2 Agra: एकतरफा प्यार में लड़की को सरेराह कुल्हाड़ी से काट डाला, 6 साल से परेशान कर रहा था आरोपी
3 Varanasi: नौकरी गई तो फर्जी आईबी अधिकारी बन बीएचयू में करने लगा ठगी, चढ़ा पुलिस के हत्थे