ताज़ा खबर
 

स्पा सेंटर चलाने वाली महिला से बलात्कार का आरोप

महिला ने बदरपुर थाने में बलात्कार की शिकायत की जिसे शुक्रवार को पुलिस ने मयूर विहार भेजकर आरोपी नीरज, नितीन और संदीप के खिलाफ सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार में स्पा सेंटर चलाने वाली एक महिला के साथ सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज किया गया है। आरोप है कि महिला के दोस्त और दो अन्य युवकों ने अलग-अलग दिन में उसके साथ बलात्कार किया। महिला ने बदरपुर थाने में बलात्कार की शिकायत की जिसे शुक्रवार को पुलिस ने मयूर विहार भेजकर आरोपी नीरज, नितीन और संदीप के खिलाफ सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। अपनी शिकायत में पीड़ित महिला (29) ने कहा है कि वह पति और दो बेटों के साथ बदरपुर में रहती है। वह गुरुग्राम में स्पा सेंटर चलाती हैं। उनका पति एक रेस्तरां में जनरल मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं।

पीड़िता के मुताबिक पिछले करीब पांच साल से उनकी दोस्ती नीरज नामक युवक से थी। दो साल पहले नीरज की शादी तय हुई तो पीड़िता ने बातचीत बंद कर दी। बीते साल दिसंबर में नीरज ने उनसे फिर से बातचीत शुरू कर दी। नीरज मयूर विहार फेस-एक के चिल्ला गांव में रहता है। पिछले कुछ दिनों से नीरज मिलने के लिए दबाव बना रहा था। 17 दिसंबर को वह नीरज से मिलने के लिए चिल्ला गांव पहुंची तो यहां नीरज ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। इसके बाद 22 दिसंबर को नीरज पीड़िता और उसके दोनों बच्चों को मनाली घुमाने ले गया। 26 दिसंबर को सभी लोग वापस लौट आए। पीड़िता दोनों बेटों के साथ बदरपुर चली गई।

शाम में नीरज ने फिर से उसे बुलाया। पीड़िता उसके घर आ गई तो यहां नीरज के साथ नितीन नामक युवक मौजूद था। दोनों ने पीड़िता को नशीला पदार्थ पिला दिया। इसके बाद बलात्कार किया। अगले दिन संदीप नामक एक अन्य आरोपी ने भी उसके साथ बलात्कार किया। आरोपियों ने धमकी दी कि अगर कहीं शिकायत दी तो उनके साथ बहुत बुरा-बर्ताव होगा। डर के कारण वह चुप हो गई। 25 जनवरी गुरुवार को नीरज ने पीड़िता को फोन पर गाली-गलौच की तो उसका धैर्य जवाब दे गया और उसने तुरंत पास के बदरपुर पुलिस को सूचना दे दी। बदरपुर थाने से मामले को मयूर विहार थाने में स्थानांतरित किया गया। शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Next Stories
1 कैलाश गहलोत की कुर्सी खतरे में, सौरभ भारद्वाज को मिल सकता है परिवहन विभाग
2 करणी सेना ने नहीं की हिंसा, सीबीआइ जांच हो : कालवी
3 सीलिंग पर हुई निगमों की बैठक में हंगामा
यह पढ़ा क्या?
X