ताज़ा खबर
 

मध्यप्रदेशः 30 साल के चौकीदार ने किया आठ साल की बच्ची से डेढ़ माह तक बलात्कार

मध्यप्रदेश के कटनी स्थित अनाथ बच्चों के लिए बनाये गये एक शिशु गृह में आठ साल की एक बच्ची के साथ कथित रूप से दुष्कर्म करने का मामला सामने आया

Author कटनी | May 12, 2017 22:11 pm
प्रतीकात्मक तस्वीर

मध्यप्रदेश के कटनी स्थित अनाथ बच्चों के लिए बनाये गये एक शिशु गृह में आठ साल की एक बच्ची के साथ कथित रूप से दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है।
शिशु गृह में छह साल तक के बच्चों को ही रखा जाता है, लेकिन इस साल एक जनवरी को एक ट्रेन में यहां लावारिस मिली आठ वर्षीय इस बालिका को उसकी वास्तविक आयु का ठीक-ठीक आंकलन न होने की वजह से इस शिशु गृह में भेजा गया था, जहां 30 वर्षीय चौकीदार विष्णु सिंह ने कथित रूप से उसके साथ करीब डेढ़ महीने तक दुष्कर्म किया।
पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज करके आरोपी विष्णु सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। अनिमितताओं के आरोप में यह शिशु गृह 15 फरवरी को बंद हो गया और इसके बंद होने के बाद इस लड़की को कटनी के ही एक अन्य बाल गृह ‘लिटिल स्टार फाउंडेशन’ में भेज दिया गया। बाल गृह में छह साल से उच्च्पर आयु के अनाथ बच्चों को संरक्षण देने के लिए रखा जाता है।

‘लिटिल स्टार फाउंडेशन’ के संचालक समीर चौधरी ने फोन पर आज बताया, हमारे बाल गृह में सात वर्षीय एक लड़की के गुप्तांग में घाव पाया गया। हमारे फाउंडेशन की अधीक्षक दीपा बनर्जी द्वारा पूछने पर उसने बताया कि यह घाव दीदी (आठ साल की दुष्कर्म पीड़िता) ने किये हैं। इसके बाद ‘लिटिल स्टार फाउंडेशन’ की अधीक्षक दीपा बनर्जी ने आठ मई को इस संबंध में पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने इस मामले में प्रारंभिक जांच में पाया कि सात वर्षीय बच्ची के गुप्तांग में चोट खेलते वक्त लगी है।

पुलिस नगर निरीक्षक कीर्ति शुक्ला ने बताया, प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि सात वर्षीय पीड़िता के गुप्तांग में उस वक्त चोट लगी, जब वह अन्य बच्चियों के साथ खेल रही थी।….बच्ची के साथ यह यौन शोषण का मामला नहीं है। वहीं, पुलिस ने चौकीदार विष्णु को आठ वर्षीय लड़की के साथ दुष्कर्म करने के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथ तब दुष्कर्म किया गया था, जब वह इस साल दो जनवरी से 15 फरवरी तक शिशु गृह में थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App