ताज़ा खबर
 

70 वर्षीय बुजुर्ग ने खोद डाली अपनी ही कब्र, पुलिस ने पूछा तो बताई यह वजह

मौके पर पहुंचते ही पुलिस ने लच्ची रेड्डी को कब्र से बाहर निकाला। पुलिस ने लच्ची रेड्डी के घर से उनकी बेटी को भी निकाला और काउंसलिंग के लिए भेजा। पुलिस के मुताबिक लच्ची रेड्डी पूजा-पाठ और जादू-टोने पर विश्वास करते थे। पिछले कई सालों से लच्ची अपने परिवार के साथ भी नहीं रहते थे।

प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स – फेसबुक

अपनी ही कब्र खोदकर एक 70 साल के बुजुर्ग इंसान अचानक ही सुर्खियों में आ गए हैं। इस बुजुर्ग ने अपनी कब्र क्यों खोदी? क्यों वो जीते जी समाधि लेने की सोच रहे थे? यकीनन जब आप इन सवालों के जवाब जानेंगे तो दंग रह जाएंगे। यह मामला आंध्र प्रदेश का है। 70 साल के बूढ़े शख्स द्वारा अपनी कब्र खोदने की खबर सुनकर यहां आसपास के लोग सकते में हैं। किसी को इस बात पर यकीन नहीं हो रहा है कि कोई जिंदा शख्स खुद के लिए कब्र खोदने के बारे में भी सोच सकता है। हालांकि पुलिस ने इस बुजुर्ग शख्स को तो बचा लिया है लेकिन जो कहानी इस शख्स ने पुलिस को बतलाई है उसे सुनकर वो भी दंग है।

पुलिस के मुताबिक 70 साल के वृद्ध लच्ची रेड्डी ने कब्र के भीतर जाने से पहले पुलिस को इत्तिला किया कि ‘भगवान उन्हें बुला रहे हैं, इसलिए उन्हें यह दुनिया छोड़कर जाना होगा।’ यह मैसेज मिलते ही पुलिस तत्परता दिखाते हुए सीधे उस जगह पर पहुंच गई जहां लच्ची रेड्डी खुद को दफ्न करने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने बतलाया कि लच्ची रेड्डी ने गुंटूर स्थित अपने ही खेत के एक किनारे पर अपनी कब्र खोद रखी थी।

मौके पर पहुंचते ही पुलिस ने लच्ची रेड्डी को कब्र से बाहर निकाला। पुलिस ने लच्ची रेड्डी के घर से उनकी बेटी को भी निकाला और काउंसलिंग के लिए भेजा। पुलिस के मुताबिक लच्ची रेड्डी पूजा-पाठ और जादू-टोने पर विश्वास करते थे। पिछले कई सालों से लच्ची अपने परिवार के साथ भी नहीं रहते थे। फिलहाल इस मामले में लच्ची रेड्डी की काउंसलिंग की जा रही हैं।

इधर विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि लच्ची रेड्डी के कब्र के भीतर जाने से पहले का एक वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में नजर आ रहा है कि लच्ची रेड्डी मुस्कुराते हुए अपनी कब्र में कूद जाते हैं। फिलहाल पुलिस अब इस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App