ताज़ा खबर
 

देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश रचने पर सात गिरफ्तार

सरकार ने बुधवार को बताया कि देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने का आपराधिक षड्यंत्र रचने और कई सार्वजनिक स्थानों को निशाना बनाने के आरोप में राष्ट्रीय जांच एजंसी ने सात व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

Author नई दिल्ली | July 21, 2016 12:56 AM
(representative picture)

सरकार ने बुधवार को बताया कि देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने का आपराधिक षड्यंत्र रचने और कई सार्वजनिक स्थानों को निशाना बनाने के आरोप में राष्ट्रीय जांच एजंसी ने सात व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। गृह राज्य मंत्री हंसराम गंगाराम अहीर ने राज्यसभा को बताया कि इन आरोपों की जांच के लिए 22 जून 2016 को एनआइए ने एक मामला दर्ज किया है। उन्होंने एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि आरोपों में कहा गया है कि कुछ लोगों ने भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए आपराधिक षड्यंत्र किया है और देश के विभिन्न हिस्सों में धार्मिक स्थलों, संवेदनशील सरकारी भवनों आदि को निशाना बनाने के लिए हथियार व विस्फोटक सामग्री जुटा रहे हैं।

अहीर ने बताया कि एनआइए ने इस मामले में हैदराबाद से 29 जून 2016 को पांच व्यक्तियों को और 12 जुलाई 2016 को दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने एक अन्य सवाल के लिखित जवाब में बताया कि एनआइए द्वारा यह गिरफ्तारियां जांच के बाद एकत्र साक्ष्यों के आधार पर की गई है। गृह राज्य मंत्री ने यह भी बताया कि 21 फरवरी 2013 को हैदराबाद के दिलसुखनगर में दो बम विस्फोट हुए थे। उन विस्फोटों में शामिल आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन से संबंंधित छह आतंकवादियों में से पांच को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक अभी फरार है। एनआइए ने इस संबंध में दो मामले दर्ज किए हैं। इन मामलों में आरोपपत्र भी दाखिल किए जा चुके हैं।

सीमा पार से घुसपैठ की कोशिशें बढ़ीं: सरकार ने बताया कि जम्मू कश्मीर में भारत पाकिस्तान सीमा पर आतंकवादियों के घुसपैठ के प्रयासों में हाल ही में अचानक वृद्धि हुई है। गृह राज्य मंत्री हंसराम गंगाराम अहीर ने राज्यसभा को बताया कि इस साल जम्मू कश्मीर में भारत पाकिस्तान सीमा पर आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ के प्रयास बढ़े हैं।

उन्होंने एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि इस साल 30 जून तक आतंकियों ने सीमा पर से घुसपैठ के 90 प्रयास किए जिनमें दस आतंकी मारे गए और 26 को खदेड़ दिया गया। इस अवधि में घुसपैठ के 54 मामले हुए थे। अहीर ने बताया कि 2015 में इसी अवधि में सीमा पर से घुसपैठ के 29 प्रयास किए जिनमें 15 आतंकी मारे गए और नौ को पीछे खदेड़ दिया गया। इस अवधि में घुसपैठ के पांच मामले हुए थे। 2014 में इसी अवधि में सीमा पर से घुसपैठ के 47 प्रयास किए जिनमें पांच आतंकी मारे गए और 32 को पीछे खदेड़ दिया गया। इस अवधि में घुसपैठ के 10 मामले हुए थे। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकार के साथ मिल कर सीमा पार से घुसपैठ रोकने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण अपनाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App