ताज़ा खबर
 

हिन्‍दू नेताओं की हत्‍या करने आए थे? पुलिस ने पांच को किया गिरफ्तार

पुलिस का कहना है कि अभी आरोपियों को आतंकवादी नहीं माना गया है। हालांकि इनके जम्मू कश्मीर में आईएसआईएस का समर्थक होने की जानकारी मिली है।

पुलिस ने खूफिया सूचना के आधार पर किया आरोपियों को गिरफ्तार। (file pic)

तमिलनाडु के कोयम्बटूर में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि ये लोग कोयम्बटूर में कुछ हिंदू नेताओं की हत्या करने के उद्देश्य से आए थे। खबर के अनुसार, तमिलनाडु की स्पेशल इंटेलीजेंस यूनिट (SIU) ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, चेन्नई, वईसारपदी, पल्लवरम्, तिंदीवनम् और चेन्नई से 4 युवक ट्रेन द्वारा कोयम्बटूर पहुंचे थे। जब आरोपियों को एक युवक कोयम्बटूर रेलवे स्टेशन लेने आया, तभी स्पेशन इंटेलिजेंस यूनिट के जवानों ने सभी आरोपियों को पकड़ लिया। पुलिस के अनुसार, आरोपी सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की साजिश भी रच रहे थे।

जांच में पता चला है कि आरोपी हिंदू मक्कल कच्ची पार्टी के नेताओं को अपना निशाना बनाना चाहते थे। पुलिस का कहना है कि अभी आरोपियों को आतंकवादी नहीं माना गया है। हालांकि इनके जम्मू कश्मीर में आईएसआईएस का समर्थक होने की जानकारी मिली है। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपी आगामी 13 सितंबर को गणेश चतुर्थी के दौरान सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की योजना बना रहे थे। आरोपियों की पहचान आर. आशिक (25 वर्ष), एस. इस्माइल (25 वर्ष), एस. शम्सुद्दीन (20 वर्ष) और एस. सलावुद्दीन (25 वर्ष) जफर सादिक अली (29 वर्ष) के रुप में हुई है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, हिंदू मक्कल कच्ची पार्टी के फाउंडर अर्जुन संपत उनके बेटे ओमकार बालाजी और हिंदू मुन्नेनी पार्टी के नेता मुक्कमबई मनी को पिछले कुछ दिनों से धमकियां भी मिल रहीं थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से 5 हंसिया भी बरामद की हैं। आरोपी सोशल मीडिया के जरिए कुछ महीने पहले मिले थे। बताया जा रहा है कि आरोपियों के निशाने पर अर्जुन संपत और अंबु मारी थे। उल्लेखनीय है कि बीते साल पंजाब में भी कुछ हिंदू नेताओं की हत्या की घटनाएं सामने आयीं थी। पंजाब में पिछले कुछ समय के दौरान करीब 5 हिंदू नेताओं की हत्या की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App