ताज़ा खबर
 

Maharashtra: बार गर्ल्स पर नोट उड़ा रहे थे 47 लोग, कोर्ट का आदेश- अनाथालय में जमा करो सारा पैसा

मुंबई की हॉलिडे कोर्ट ने 47 लोगों को अनाथालाय में 3 हजार रुपए जमा करने का आदेश दिया है। दरअसल ये 47 लोग बार गर्ल्स पर पैसा उड़ाने के दोषी थे।

प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

मुंबई की हॉलिडे कोर्ट ने रविवार (24 मार्च) को 47 पुरुषों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया। दरअसल इन सभी को बार गर्ल्स पर पैसे उड़ाने के लिए गिरफ्तार किया गया था। वहीं जमानत के लिए हर एक को तीन हजार रुपए बदलापुर के एक अनाथालय में जमा/दान करने पड़े। गौरतलब है कि आमतौर पर जमानत के तौर पर जमा किया गया पैसा सरकारी खजाने में जाता है।

क्या है पूरा मामला: दरअसल शनिवार (23 मार्च) की रात को इंडियाना बार और रेस्टोरेंट में पुलिस ने रेड मारकर 47 लोगों को गिरफ्तार किया। जिन्हें रविवार दोपहर को मजिस्ट्रेट सबीना मलिक के सामने पेश किया गया। मजिस्ट्रेट सबीना मलिक उन सभी को कुछ ऐसी सजा देना चाहती थीं जिससे उन्हें सबक मिल सके और वो दोबारा ऐसी गलती न करें। मजिस्ट्रेट मलिक का विचार था कि आरोपियों को पश्चाताप करने के लिए सलाखों के पीछे कम से कम एक दिन बिताना होगा ताकि उनके परिवार उनके द्वारा किए गए अपराध की प्रकृति को समझ सकें। बता दें कि आरोपियों में बार मैनेजर, कर्मचारी और ग्राहक शामिल थे, गौरतलब है कि अधिकतर ग्राहक लोकल थे लेकिन कुछ गुजरात और मध्य प्रदेश के भी थे।

National Hindi News Today Live: पढ़े आज के बड़े अपडेट्स

वकीलों ने की रिहाई की विनती: जब मजिस्ट्रेट मलिक ने शुरू में पुरुषों को जेल जाने का आदेश दिया तब उनके वकीलों ने उनकी रिहाई के लिए अनुरोध किया। गिरफ्तार पुरुषों में से आठ का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील कमलेश मोर ने तर्क दिया कि यह पहली और आखिरी बार है जब इन लोगों ने ऐसा अपराध किया है। आगे से कोई भी ऐसा अपराध दोबारा नहीं करेगा। कमलेश मोर की बात सुन मजिस्ट्रेट मलिक और बचाव पक्ष के वकीलों ने इस बात पर विचार किया कि जमानत बॉन्ड का उपयोग कैसे किया जाए। जिस पर वकीलों ने एनजीओ और राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण को पैसे दान करने का सुझाव दिया।

आखिर में चुना गया बदलापुर का एक आश्रम: सभी की सहमति के बाद आखिर में मजिस्ट्रेट ने बदलापुर में सतकर्मा बालाकाश्रम को चुना। अपने आदेश में उन्होंने प्रत्येक अपराधी को पुलिस के पास 3,000 रुपए जमा करने का निर्देश दिया, जो अनाथालय में जमा होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X