ताज़ा खबर
 

Tripura: बीएसएफ के जवानों ने पशु तस्करों से ‘आजाद’ कराई थीं 45 गाय, प्राइवेट गोशाला में हुई सबकी मौत

सिपाहीजाला जिले में करीब 159 गायों को गोशाला में रखा गया था। यह गोशाला त्रिपुरा की राजधानी अगरतला से करीब 26 किमी दूर देवीपुर में स्थित है। 14 मई से अब तक इन गायों की मौत हो चुकी है।

Author अगरतला | July 17, 2019 8:39 AM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में गोवंश मारे जाने की एक चौंकाने वाली घटना सामने आई। यहां तस्करी करके बांग्लादेश ले जाई जा रही कई गायों को बीएसएफ ने जब्त कर एक प्राइवेट गोशाला में रखा था। आधिकारिक सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक इनमें से करीब 45 से ज्यादा गायों की मौत हो चुकी है। यह घटना रविवार (14 जुलाई) की बताई जा रही है। इतनी बड़ी संख्या में गायों की मौत से इलाके में सनसनी मच गई है, हालांकि अभी तक मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है।

टेलीग्राफ की खबर के मुताबिक एक अधिकारी ने कहा, ‘इन गायों को खुले में रखा गया था, जहां पिछले छह दिनों से तेज बारिश के चलते ये भीग गईं। इसी के चलते उनकी हालत खराब हुई और मौत हो गई। राज्य सरकार के पशु चिकित्सकों ने गोशाला का दौरा किया और नमूने एकत्रित किए हैं। लेकिन अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।’

14 मई से अब तक 159 गायों की मौतः बहरहाल अधिकारियों ने गोशाला के संदर्भ में और जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सिपाहीजाला जिले में करीब 159 गायों को गोशाला में रखा गया था। यह गोशाला त्रिपुरा की राजधानी अगरतला से करीब 26 किमी दूर देवीपुर में स्थित है। 14 मई से अब तक इन गायों की मौत हो चुकी है। फिलहाल जांच रिपोर्ट आने तक किसी प्रकार के नतीजे तक नहीं पहुंचा जा सकता।

एक साल पहले ही बनी थी गोशालाः बता दें कि 14 मई 2018 को ही एक एनजीओ ने इस गोशाला की स्थापना की थी। गोशाला के प्रभारी जोशीन एंटनी ने घटनाक्रम की जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों देशभर में गायों की तस्करी किए जाने और उनके मारे जाने की कई घटनाएं सामने आ चुकी है। मौजूदा घटना में पुलिस की जांच बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। कारण जो भी सामने आए लेकिन त्रिपुरा में इतनी बड़ी संख्या में गायों की मौत के चलते हंगामा तय है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मध्य प्रदेशः मानसून की सुस्ती से मायूस मेहमान
2 राजस्थानः साइबर अपराध की घटनाओं को रोकने में पुलिस विफल
3 यूपीः महारानी विक्टोरिया के दौर वाले तालाब का पुरसाहाल नहीं