ताज़ा खबर
 

13 बरस की लड़की को जबरन ‘पत्नी’ बनाकर रखा, सालों से कर रहा था बलात्कार

बाहरी दिल्ली के शिव विहार के पास रनहोला इलाके में गुरुवार (12 अप्रैल) को पुलिस ने एक 13 वर्षीय लड़की को एक 42 वर्षीय शख्स के चंगुल से आजाद कराया। शख्स पेशे से रिक्शेवाला है और उस पर आरोप है कि उसने लड़की को जबरन पत्नी बनाकर रखा और उसके साथ कई दफा बलात्कार किया।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

बाहरी दिल्ली के शिव विहार के पास रनहोला इलाके में गुरुवार (12 अप्रैल) को पुलिस ने एक 13 वर्षीय लड़की को एक 42 वर्षीय शख्स के चंगुल से आजाद कराया। शख्स पेशे से रिक्शेवाला है और उस पर आरोप है कि उसने लड़की को जबरन पत्नी बनाकर रखा और उसके साथ कई दफा बलात्कार किया। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक आरोपी पहले भी दो बार शादियां कर चुका था। पुलिस के मुताबिक उन्हें पड़ोसियों के द्वारा लड़की के बारे में जानकारी मिली। पुलिस ने बताया कि एक पड़ोसी ने रात के वक्त लड़की की चीखने की आवाजें सुनकर चाइल्ड हेल्पलाइन पर फोन किया। अगले दिन पुलिस मौके पर पहुंची और बच्ची को वहां से छुड़ाया। पुलिस ने जब बच्ची का आत्मविश्वास जीता तब जाकर उसने सारी आपबीती बयां की। इसके बाद पुलिस लड़की को अस्पताल ले गई जहां उसके साथ यौन हिंसा की पुष्टि हुई। लड़की ने पुलिस को बताया कि आरोपी शख्स उसे मारता-पीटता था और उसका रेप करता था। वह उसे किसी और बच्चे के साथ खेलने भी नहीं देता न ही घर से निकलने देता था।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Moto Z2 Play 64 GB Lunar Grey
    ₹ 14999 MRP ₹ 29499 -49%
    ₹2300 Cashback

लड़की ने बताया कि कुछ दिनों पहले आरोपी ने उसे हाथों में चूड़ियां पहनने और माथे पर सिंदूर लगाने के लिए कहा था। आरोपी ने कुछ दिनों तक लड़की को दिल्ली के हरिनगर स्थित अपने परिवारों के घर में भी रखा, लेकिन कुछ दिनों पहले वह बाहरी दिल्ली के रनहोला में बच्ची के साथ अलग रहने लगा था। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने पिछले वर्ष बिहार के दरभंगा में लड़की से शादी की थी और उसके बाद से दिल्ली में उसके साथ रह रहा था। पुलिस के मुताबिक लड़की के पिता की मौत के बाद घरवालों ने उसे उसकी मां के साथ घर से निकाल दिया था। तभी आरोपी दरभंगा में लड़की से शादी करने का प्रस्ताव लेकर पहुंचा था।

दरभंगा में पड़ोसियों के समझाने पर लड़की की मां ने इस शादी के लिए हामी भर दी थी। आरोपी जब बच्ची को दिल्ली लेकर आया तो उसने पड़ोसियों के सामने उसे अपने एक रिश्तेदार की लड़की के तौर पर पेश किया। लड़की ने पुलिस को बताया कि आरोपी के साथ उसकी शादी 27 फरवरी 2017 को हुई थी। पुलिस के मुताबिक लड़की की मां मानसिक तौर पर बीमार हैं और लड़की के पुनर्वास के लिए उसे एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) को सौंपा गया है। पुलिस आरोपी को पोक्सो और औप बाल विवाह अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर चुकी है और मामले में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App