ताज़ा खबर
 

Odd-Even के पहले दिन डीटीसी की बसों में 38 लाख यात्रियों ने किया सफर

राजधानी में बसें बढ़ाए जाने और सम-विषम योजना के पहले दिन दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में 38 लाख से अधिक यात्रियों ने सफर किया।
Author नई दिल्ली | January 3, 2016 01:42 am

राजधानी में बसें बढ़ाए जाने और सम-विषम योजना के पहले दिन दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में 38 लाख से अधिक यात्रियों ने सफर किया। डीटीसी के आंकडों के मुताबिक आस्थायी रूप से चलाई जा रही डीटीसी पर्यावरण बस सेवा के तहत शुक्रवार को राजधानी की सड़कों पर निजी स्कूलों की दो हजार बसों समेत 57 सौ बसें उतारी गईं। इनमें साढ़े चार हजार डीटीसी की अपनी और क्लस्टर की बसें भी शामिल रहीं।

लोगों का कहना है कि सार्वजनिक परिवहन प्रणाली दुरुस्त हो तो लोग उसी में चलना पसंद करते हैं। लेकिन दुर्भाग्य है कि दिल्ली के अहम इलाकों में भी आधे से एक घंटे तक बस का इंतजार करना पड़ता है। सम-विषम फार्मूले का पालन करते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को अपनी गाड़ी शनिवार को खड़ी रखी। उनके कार का नंबर विषम है। वे कार की जगह साइकिल से दफ्तर गए।

राजधानी में एक जनवरी से लागू हुए सम-विषम फार्मूले की वजह से लोग कार छोड़ लोग थोड़ा ही सही पर सार्वजानिक परिवहन प्रणाली की ओर बढ़े हैं। रोजाना कार से अपने दफ्तर नेहरू प्लेस जाने वाले आशीष सूरी ने कहा कि लोगों को सही समय पर आसानी से बसें मिले या मेट्रो में थोड़ी भीड़ कम हो तो अधिकांश लोग सार्वजनिक परिवहन ही पसंद करेंगे। कम लोग ही हैं जो गाड़ी चलाने का वह भी जाम में थकान मोल लेना चाहेंगे। किसी खास मौके को छोड़ कर गाड़ी की उपयोगिता प्राय: तभी होती है जबकि लोगों को सार्वजनिक साधन के इंतजार में समय खराब करना पड़ता है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के एक शिक्षक ने कहा,‘मैं तो आज भी बसों में चलना पसंद करता हूं बशर्ते समय न खराब हो।’ उन्होंने कहा कि अभी तो प्रयोग हो रहा है सरकार को सार्वजानिक परिवहन व्यवस्था दुरुस्त करने की दिशा में और गंभीर प्रयास करने होंगे। विकल्प देना होगा वह भी बिना लाभ कमाए।

डीटीसी के प्रवक्ता डॉक्टर आरएस मिन्हास ने बताया कि आम दिनों में करीब 35 लाख लोग रोजाना निगम की बसों में सफर करते हैं। हालांकि तब बसों की संख्या आज की तुलना में कम थीं। लेकिन दिल्ली सरकार की हाल की वाहन नियंत्रण योजना के पहले दिन करीब 38.17 लाख लोगों ने डीटीसी और इसके तहत चल रही दूसरी बसों में सफर किया। मिन्हास ने बताया कि डीटीसी सोमवार से और बसें सड़कों पर उतारेगी ताकि सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल के दौरान लोगों को समस्याओं का सामना न करना पड़े।

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में बढ़ते प्रदूषण स्तर को कम करने के लिए कारों के लिए सम-विषम योजना शुरू की है। योजना के तहत शनिवार को सम नंबर प्लेट वाली कारों को सड़क पर चलना था। इक्का-दुक्का ऐसी कारें जरूर दिखाई पड़ीं जिनको आज नहीं चलना था। इसके चलते विषम नंबर की कारें दिल्ली की सड़कों पर नही उतरीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. D
    Dinesh Singh
    Jan 3, 2016 at 2:39 am
    शाबाश डेल्ही.
    (0)(0)
    Reply