ताज़ा खबर
 

उ.प्र. में तीन महीने के अंदर होगा तीन लाख करोड़ का निवेशः योगी आदित्यनाथ

उत्­तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछली फरवरी में लखनऊ में आयोजित ‘इन्­वेस्­टर्स मीट’ को बड़ी कामयाबी करार देते हुए आज कहा कि प्रदेश में तीन माह के अंदर तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश होगा।

Author लखनऊ | May 2, 2018 6:05 PM
योगी आदित्यनाथ। (file photo)

उत्­तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछली फरवरी में लखनऊ में आयोजित ‘इन्­वेस्­टर्स मीट’ को बड़ी कामयाबी करार देते हुए आज कहा कि प्रदेश में तीन माह के अंदर तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश होगा। मुख्ययमंत्री ने यहां आयोजित ‘उत्तर प्रदेश विकास संवाद’ कार्यक्रम में कहा कि गत 21-22 फरवरी को लखनऊ में हुए इन्­वेस्­टर्स समिट में निवेशकों ने चार लाख 68 हजार करोड़ रुपये के करारनामों (एमओयू) पर दस्­तखत किये थे। अब तीन महीनों के भीतर तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश होता दिखेगा। इस पर काम शुरू हो गया है। योगी ने खुलासा किया कि इन्वेस्टर्स समिट से पहले नवम्­बर 2017 में अधिकारियों से इस समिट की सम्­भावनाओं के बारे में जानकारी मांगी गयी थी।

अफसरों ने प्रदेश के बाहर के किसी भी निवेशक के ना आने की बात कहते हुए आयोजन को केवल यूपी तक सीमित करने की सलाह दी थी। प्रदेश के सालाना बजट के बराबर निवेश आने की बात कहने पर सभी हंसे भी,, लेकिन जब प्रयास हुआ तो सफलता भी मिली। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने केवल उद्यमियों को बुलाकर उद्यम स्थापित कराने की दिशा में काम नहीं किया है, बल्कि जमीनी स्तर पर काम तेजी पर है। इन्हीं प्रयासों के तहत जेवर में सबसे बड़ा हवाई अड्डा बनेगा।

इस मौके पर योगी ने राज्­य सरकार की महत्­वाकांक्षी योजना ‘वन डिस्ट्रिक्­ट, वन प्रोडक्­ट’ पर आधारित एक विशेषांक का विमोचन भी किया।
इससे पहले, केन्द्रीय नागरिक विमानन राज्य मंत्री जयन्त सिन्हा ने कहा कि भारतीय रेलवे का सालाना कारोबार 1.8 लाख करोड़ रुपये है। विमानन क्षेत्र का भी यही आंकड़ा है। जिस किराये में रेलवे ले जा रहा है, उसी भाड़े में यात्रियों को हवाई यात्रा भी करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि आॅटो रिक्शा का भाड़ा 10 रुपये प्रति किलोमीटर है, जबकि विमान का किराया तीन से चार रुपये के बीच है। यानी किराये के मामले में विमानन क्षेत्र आॅटो रिक्शा से भी सस्ता हो सकता है।

उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद चार नये हवाई अड्डों की शुरूआत हो चुकी है। प्रदेश में 20 विमानपत्­तन बनाने का लक्ष्­य है। बरेली, मुरादाबाद, कानपुर, गोरखपुर, इलाहाबाद आदि में भी हवाई जहाजों के आने से विकास की गति और बढ़ेगी। सिन्­हा ने कहा कि जेवर में पांच हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में हवाई अड्डा विकसित किया जाना है। यह पश्चिमी उत्­तर प्रदेश के विकास को गति देगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दीपावली से पहले इसका भूमि पूजन करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App