ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र में कांग्रेस लगा रही जोर, तीनों प्रभारी सचिव छह दिन के सघन दौरे पर

महाराष्ट्र में राजनैतिक हालात का जायजा लेने के लिए कांग्रेस के प्रदेश मामलों के तीनों सचिव छह दिवसीय यात्रा पर हैं। इस दौरान वे पार्टी की जिला इकाइयों के प्रमुखों और पदाधिकारियों से संवाद करेंगे।

Author मुंबई | August 1, 2018 7:28 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में राजनैतिक हालात का जायजा लेने के लिए कांग्रेस के प्रदेश मामलों के तीनों सचिव छह दिवसीय यात्रा पर हैं। इस दौरान वे पार्टी की जिला इकाइयों के प्रमुखों और पदाधिकारियों से संवाद करेंगे। जून में कांग्रेस ने तेलंगाना के संपत कुमार, गुजरात के सोनल पटेल और हरियाणा के आशीष दुआ को महाराष्ट्र के लिये एआईसीसी सचिव नियुक्त किया था। तीनों ने कल मध्य मुंबई में राज्य इकाई के मुख्यालय तिलक भवन में रत्नागिरि, रायगढ़ और सिंधुदुर्ग की जिला इकाई प्रमुखों और पदाधिकारियों से मुलाकात की। वे आज मीरा भायंदर, वसई-विरार, ठाणे शहर, भिवंडी और उल्हासनगर जिला समितियों के साथ बैठक करेंगे। पार्टी की मुंबई इकाई के नेताओं के साथ भी उनकी दक्षिण मुंबई में मुंबई क्षेत्रीय कांग्रेस कमेटी (एमआरसीसी) कार्यालय में बैठक होने वाली है।

कोंकण के एमपीसीसी प्रभारी महासचिव राजन भोंसले ने बताया कि एआईसीसी सचिवों ने वहां के राजनैतिक हालात पर चर्चा की।  भोंसले ने बताया, ‘‘उन्होंने क्षेत्र में पार्टी का आधार मजबूत बनाने को लेकर सुझाव मांगा। सचिवों को बताया गया कि रत्नागिरि-सिंधुदुर्ग जिलों को मिलाकर एक लोकसभा सीट बनती है, जिसे नारायण राणे के पुत्र को दिया गया था।’’ उन्होंने कहा कि इन दोनों जिलों में पार्टी नेता के तौर पर (नारायण) राणे का बेहद प्रभाव था। अब वह पार्टी छोड़ चुके हैं। उनके जाने के साथ ही इन क्षेत्रों में पार्टी का जो प्रभाव था वह खत्म हो गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य और केंद्रीय नेताओं को कोंकण क्षेत्र में और समय देना चाहिये और जिला समितियों में सारी नियुक्तियां समय पर की जानी चाहिये।’’ भोंसले ने कहा कि कोंकण क्षेत्र में मुंबई के साथ-साथ 12 लोकसभा और 78 विधानसभा सीटें आती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इनमें से कांग्रेस के सिर्फ छह विधायक हैं। इन छह विधायकों में से दो-नीतेश राणे और कालिदास कोलंबकर-नारायण राणे के साथ हैं।’’ पिछले साल अक्तूबर में राणे ने कांग्रेस छोड़ने के कुछ ही दिन बाद अपनी नयी पार्टी ‘महाराष्ट्र स्वाभिमान पक्ष’ बना ली थी।
प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष रत्नाकर महाजन ने पीटीआई-भाषा से बातचीत में कहा कि एआईसीसी सचिव पांच अगस्त तक 48 लोकसभा और 288 विधानसभा सीटों का जिलेवार दौरा करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App