ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: अलवर के गोदाम से मिली 220 गायों की लाश, दफन कर छिपाए थे

राजस्थान के अलवर जिले में एक गोदाम से बुधवार को 220 गायों के शव जब्त किए गए। सब इंसपेक्टर धरा सिंह ने आईएएनएस को बताया कि शव गोविंदगढ़ के एक गोदाम के अंदर दफन पाए गए।

(file Photo)

राजस्थान के अलवर जिले में एक गोदाम से बुधवार को 220 गायों के शव जब्त किए गए। सब इंसपेक्टर धरा सिंह ने आईएएनएस को बताया कि शव गोविंदगढ़ के एक गोदाम के अंदर दफन पाए गए। गाय के शवों के अलावा यहां भैंसों और बकरियों के शव भी बरामद किए गए। सिंह ने कहा, “यहां से हरियाणा, राजस्थान और आसपास के राज्यों में गोमांस की आपूर्ति की जाती थी।” उन्होंने कहा, “छापेमारी मंगलवार को एक शख्स को गिरफ्तार और उससे पूछताछ करने के बाद की गई। इस मामले की जांच जारी है। गोविंदगढ़ सब इंसफेक्टर ने यह भी कहा कि इस शख्स की गिरफ्तारी सोमवार को तीन महिलाओं की गिरफ्तारी के बाद हुई जब उन्होंने कई घरों की खोजबीन की और वहां से 40 किलोग्राम मांस बरामद किया। पुलिस द्वारा बुधवार को गोदाम की छापेमारी के दौरान पशु चिकित्सक और बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

गौरतलब है कि इससे पहले जयपुर की हिंगोनिया गौशाला में गायों की मौत को लेकर खबर आई थी। साल 2016 में जयपुर की हिंगोनिया गौशाला में सैकड़ों गायों ने दम तोड़ दिया था। गौशाला में गायों की स्थिति इतनी खराब हो गई थी कि डॉक्टर उन्हें बचा नहीं पा रहे थे। गौशाला में बारिश के बाद कीचड़ और दलदल में गायें बिना खाए-पिये लंबे समय तक रह रहीं थीं जिसके बाद उन्हें इनफेक्शन हो गया था। इस मामले में घिरने के बाद राजस्थान सरकार के गो पालन मंत्री ओटाराम देवासी का ने हिंगोनिया गौशाला को कांजी हाउस बताया था, जहां आवारा गायें पकड़ कर लाई जाती हैं। इसके बाद बीजेपी सरकार की सभी ने आलोचना की थी। आरएसएस ने भी बीजेपी को बुरी तरह से घेरा था।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 10 साल भटकने के बाद भी नहीं मिला आश्रय, बुजुर्ग दंपति ने बस स्टॉप को बनाया ठिकाना
2 एमपी: लड़कीवाले राजी नहीं थे, शादी के बाद जोड़े को पीटा, जबरन पेशाब पिलाया
3 VIRAL VIDEO: चार साल की बेटी चला रही थी स्कूटर, पीछे बैठे थे माता-पिता, हो गया एक्शन