ताज़ा खबर
 

हत्या के आरोप में दो गिरफ्तार, एक फरार

जिले में दो जनवरी को अगवा की गई युवती की हत्या का खुलासा करते हुए जिला पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है।

Author बुलंदशहर | January 10, 2018 12:34 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

जिले में दो जनवरी को अगवा की गई युवती की हत्या का खुलासा करते हुए जिला पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से वारदात में इस्तेमाल की गई मारुती आल्टो कार व लड़की के दाहिने पैर की चप्पल और हेयरबैंड आदि बरामद किए हैं। वारदात में शामिल तीसरा अभियुक्त पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज जी ने बताया कि यहां दो जनवरी को कोतवाली नगर के चांदपुर इलाके की रहने वाली इंटर की छात्रा आयुषी को ट्यूशन से घर लौटे समय कार सवार युवकों ने अगवा कर लिया था। घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में पूरी वारदात कैद हो गई थी। आयुषी की माता बबीता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रपट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी। इसके बाद बीती तीन जनवरी को गौतमबुद्धनगर जिले की दादरी थाना पुलिस ने इलाके के बील अकबरपुर गांव के पास रजवाहे में अज्ञात लड़की का शव बरामद किया था।

शिनाख्त कराए जाने पर लड़की की पहचान आयुषी के रूप में हुई थी। शव मिलने के बाद आयुषी के परिजनों ने सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी हत्या की आशंका जताई थी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया पुलिस को आयुषी हत्याकांड में शामिल दो अभियुक्तों के वलीपुरा नहर के पास होने की सूचना मिली थी। जिस पर पुलिस ने वलीपुरा नहर के पुल से वारदात में शामिल ज़ुल्फ़िकार अब्बासी और दिलशाद को गिरफ्तार कर उनके पास से वारदात में इस्तेमाल की गई मारुती आल्टो कार बरामद की। दोनों अभियुक्त सिकंदराबाद थाने इलाके की गुलावठी रोड के रहने वाले हैं। वारदात में शामिल तीसरा अभियुक्त इजराइल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस की पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि बीती दो जनवरी की शाम वह तीनों सिकंदराबाद में मौजूद थे।

मौसम अच्छा होने के कारण तीनों ने बुलंदशहर घूमने की योजना बनाई। साथ ही मौजमस्ती के लिए रास्ते में से किसी अकेली लड़की को उठा लेने की भी योजना बनाई। इसके बाद तीनों अपनी मारुती आल्टो कार में सवार होकर बुलंदशहर आ गए। यहां अलग-अलग जगहों पर घूमने के बाद कोई अकेली लड़की न पाकर वह तीनों चांदपुर पर एक मोटरसाइकिल शोरूम के पास रुक गए। शाम सात बजे के करीब उन्हें आयुषी साइकिल पर अकेली आती दिखाई दी। कुछ दूर तक आयुषी का पीछा करने के बाद उन्होंने अपनी गाड़ी आयुषी के पास लाकर उसे ज़बरदस्ती गाड़ी में खींच लिया।

इसके बाद वह आयुषी को लेकर खुर्जा की तरफ चले गए। गाड़ी में पीछे की सीट पर इजराइल ने आयुषी के साथ गलत काम किया। इस दौरान दिलशाद आयुषी को पकड़े रहा। आयुषी के चिल्लने पर तीनों ने आयुषी को जान से मारने की सोची। अभियुक्त ज़ुल्फ़िकार गाड़ी चलाता रहा और दिलशाद व इजराइल ने आयुषी के दुपट्टे से उसकी हत्या कर दी। इसके बाद तीनों आयुषी के शव को दादरी थाना इलाके के बील अकबरपुर गांव के पास रजवाहे में फेंककर फरार हो गए थे।

Next Stories
1 दिल्ली सरकार हर साल 77000 बुजुर्गों को मुफ्त कराएगी तीर्थयात्रा
2 प्रधानमंत्री को 1000 सेनेटरी नैपकीन भेजेंगी महिलाएं
3 चुनावी बांड ‘प्रतिगामी’, दलों को सरकारी फंडिंग मिले: येचुरी
ये पढ़ा क्या?
X