ताज़ा खबर
 

खत्म हो गए दो करोड़ छोटे उद्योग, गई 20 करोड़ लोगों की रोजी- कारोबारी ने राहुल गांधी को बताया हाल

कारोबारी ने राहुल गांधी से कहा कि मैं अपने बच्चों को क्या जवाब दूंगा? आप ही सिर्फ हमारी आवाज हैं। इसने भूलना मत।

micro small and medium enterprisesकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी। (पीटीआई)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को चुनावी राज्य तमिलनाडु में चुनाव प्रचार अभियान का आगाज कर दिया। उन्होंने अपने तीन दिनों के दौरे का कोयंबटूर से आगाज किया जहां लोगों से संवाद किया। यहां कारोबारी केई रघुनाथ ने कांग्रेस नेता को बताया- सात करोड़ MSME व्यवसायियों के करीब 30 फीसदी कारोबार खत्म हो गए। इन 30% का क्या होगा? ये संख्या 2.1 करोड़ है जो 20 करोड़ लोगों को रोजगार देते थे। हम सिर्फ 60 फीसदी बैलेंस देख रहे हैं और ग्रीन शूट्स बता रहे हैं। हम कैसे तरक्की कर रहे हैं? रघुनाथ ने आगे कहा कि मैं अपने बच्चों को क्या जवाब दूंगा? आप ही सिर्फ हमारी आवाज हैं। इसने भूलना मत।

रघुनाथ भारतीय संघों के कंसोर्टियम के संयोजक और प्रवक्ता हैं। उन्होंने कहा कि यह 3.5 लाख से अधिक औद्योगिक इकाइयों का प्रतिनिधित्व करता है। टेलीग्राफ में छपी खबर के अनुसार रघुनाथ ने कहा- आज हम देश में क्या देख रहे हैं? हम स्किल इंडिया से डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया से अब आत्मनिर्भर भारत पर आ गए। आखिर में ये कहां समाप्त हुआ? फंड इंडिया। क्या है फंड इंडिया? FDI…दूसरों से हमें पैसे देने के लिए कहना।

इस बीच राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र में उनकी पार्टी की सरकार बनने पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) को फिर से नया स्वरूप दिया जाएगा। उन्होंने यहां लघु एवं मझोले उद्योगों (MSME) के प्रतिनिधियों के साथ संवाद में यह भी भरोसा दिलाया कि कांग्रेस की सरकार में ‘एक कर, न्यूनतम’ के सिद्धांत पर अमल किया जाएगा।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मेरी सोच है कि अगर भविष्य में हम चीन, बांग्लादेश या अन्य देशों के साथ स्पर्धा में आगे निकलना चाहते हैं तो यह एमएसएमई के माध्यम से ही हो सकता है।’ उनके मुताबिक, लघु एवं मझोले उद्योग देश में रोजगार सृजन की रीढ़ की हड्डी हैं। उन्होंने दावा किया कि देश इस वक्त रोजगार देने असमर्थ है और अर्थव्यवस्था तबाह हो गई है।

राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि अगर केंद्र में कांग्रेस की सरकार आती है तो जीएसटी की व्यवस्था को नया स्वरूप दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘जीएसटी की मौजूदा व्यवस्था नहीं चल सकती। इससे एमएसएमई पर बड़ा भार पड़ेगा और हमारा आर्थिक तंत्र ध्वस्त हो जाएगा।’ (एजेंसी इनपुट सहित)

Next Stories
1 रिश्तेदार के इनकार पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पुश्तैनी घर अकेले गए पीएम, BJP नेताओं को बाहर करना पड़ा इंतजार
2 UP: मथुरा के मंदिर में नमाज पढ़ने वाले व्यक्ति को इलाहाबाद HC से मिली अग्रिम जमानत, अदालत बोली- ऐसे मामलों में गिरफ्तारी होना चाहिए आखिरी विकल्प
3 बीजेपी की पूर्व मंत्री ने चेताया- हिंसक हो सकता है किसान आंदोलन, पीएम चाहें तो एक दिन में हल संभव
ये पढ़ा क्या?
X