ताज़ा खबर
 

बिहार : 16 साल की छात्रा को गला काटकर मार डाला, तेजाब से चेहरा जला किए शरीर के टुकड़े

बिहार के गया में वीभत्स तरीके से 16 साल की एक छात्रा की हत्या का मामला सामने आया है। बदमाशों ने पहले गला काटकर छात्रा की हत्या की। इसके बाद उसका चेहरा तेजाब से जला दिया और शरीर के टुकड़े कर दिए। परिजनों ने रेप होने की आशंका भी जताई है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Pixabay)

बिहार के गया में वीभत्स तरीके से 16 साल की एक छात्रा की हत्या का मामला सामने आया है। बदमाशों ने पहले गला काटकर छात्रा की हत्या की। इसके बाद उसका चेहरा तेजाब से जला दिया और शरीर के टुकड़े कर दिए। परिजनों ने रेप होने की आशंका भी जताई है। वहीं, पुलिस ऑनर किलिंग का मामला बता रही है। ऐसे में 5 दिन से शहर में तनाव का माहौल है। कोई कार्रवाई नहीं होने से शहर के लोगों में नाराजगी है। उन्होंने बुधवार को प्रदर्शन किया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की।

28 दिसंबर को लापता हुई थी छात्रा : जानकारी के मुताबिक, गया के पटवा टोली में रहने वाली एक छात्रा 28 दिसंबर को लापता हो गई थी। घरवालों ने मामले की शिकायत बुनियादगंज थाने में की, लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। वहीं, 3-4 दिन तक एफआईआर भी दर्ज नहीं की गई। काफी दबाव पड़ने पर पुलिस ने 4 जनवरी को छात्रा के लापता होने का केस दर्ज कर लिया। वहीं, 6 जनवरी को एक युवती का शव बरामद हुआ। उसकी पहचान पटवा टोली निवासी छात्रा के रूप में हुई।

पहचान छिपाने के लिए जला दिया गया था चेहरा : पुलिस के मुताबिक, छात्रा के सिर को धड़ से अलग कर दिया गया था। वहीं, पहचान न हो सके, इसके लिए चेहरे को तेजाब से जला दिया गया था। साथ ही, छाती धारदार हथियार से रेत दी गई थी। इसके अलावा शरीर के कई टुकड़े किए गए थे। परिजनों ने रेप की आशंका जताई है। साथ ही, कहा कि पुलिस ने इस मामले को काफी हल्के में लिया, जिसकी वजह से उनकी बेटी की मौत हो गई।

पुलिस बोली- परिजन नहीं कर रहे सहयोग : वजीरगंज कैंप के डीएसपी अभिजीत सिंह का कहना है कि पीड़ित परिवार जांच में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहा है। छात्रा की बहनों ने बताया था कि वह 31 दिसंबर को घर लौटी थी, लेकिन मां-पिता कुछ भी बताने के लिए तैयार नहीं है। यह मामला ऑनर किलिंग का लग रहा है। डीएसपी के मुताबिक, हत्या से पहले बलात्कार की पुष्टि मेडिकल जांच रिपोर्ट से ही संभव हो पाएगी। फिलहाल कई लोगों से पूछताछ की गई है, लेकिन किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया।

एक जानकार हिरासत में : गया के सीनियर पुलिस अधिकारी राजीव मिश्रा के मुताबिक, 31 दिसंबर को छात्रा अपने घर लौटी थी। इसके बाद पिता ने उसी रात करीब 10 बजे उसे एक युवक के साथ भेज दिया। बताया जा रहा है कि वह युवक पीड़ित परिवार का जानकार है। उसे हिरासत में ले लिया गया है, लेकिन उसने हत्या में शामिल होने की बात कबूल नहीं की है। हालांकि, उसकी कॉल रिकॉर्ड्स से आशंका है कि वह हत्यारों के संपर्क में था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App