ताज़ा खबर
 

मथुरा से 16 बांग्‍लादेशी नागरिक अरेस्‍ट, उन्‍हें शरण देने वाला भी गिरफ्तार

जनपद की पुलिस ने कोसीकलां कस्बे में छापेमारी कर वहां अवैध रूप से रह रहे 16 बांग्लादेशी नागरिकों और उन्हें शरण देने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

Author मथुरा | Published on: October 9, 2018 1:16 PM
Bollywood actress alleges rape, Arabic teacher from UP, Arabic teacher from UP arrested, Bollywood actress alleges rape case, Bollywood actress alleges rape, entertainment news, bollywood news, television newsप्रतीकात्मक तस्वीर

जनपद की पुलिस ने कोसीकलां कस्बे में छापेमारी कर वहां अवैध रूप से रह रहे 16 बांग्लादेशी नागरिकों और उन्हें शरण देने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस को उन्हें शरण देने में मदद करने वाले दूसरे व्यक्ति की तलाश है। मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने मंगलवार को बताया कि स्थानीय अभिसूचना इकाई को कोसीकलां की ईदगाह के पास वाल्मीकि बस्ती की कुछ झुग्गियों में अनजान लोगों के रहने की सूचना मिली। इस संबंध में पुलिस ने छापा मार कर वहां अवैध रूप से रह रहे 16 बांग्लादेशी नागरिकों और उन्हें शरण देने के आरोप में एक स्थानीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया।

कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किए गए अवैध बांग्लादेशियों की पहचान… मोहम्मद बकर (32), माहउर (33) और उसकी पत्नी रिहाना (33), माहबुर (26) और उसकी पत्नी रितु (23), लिट्टन (30), मोसियाली (24) और उसकी पत्नी सिरीना (22), किविरिया (39) और उसका बेटा यूसुफ (19), मन्नन (36), मौहम्मद फारुख (48) और उसकी पत्नी सपना (38), पुत्र यासीन (18), यासीन की पत्नी राबिया (21), मीनू (50) के तौर पर हुई है। वहीं कोसीकलां में उन्हें शरण देने वाले स्थानीय नागरिक की पहचान इलियास (62) के तौर पर हुई है।
उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान इन लोगों के पास से सात मोबाइल फोन, फर्जी तरीके से बनवाए गए आठ आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, एक ड्राईंिवग लाइसेंस और अन्य चीजें मिली हैं।

उन्होंने बताया कि पुलिस को इन बांग्लादेशियों को शरण देने के मामले में जगदीश नामक व्यक्ति की भी तलाश है। कुमार ने बताया, गिरफ्तार किए गए बांग्लादेशी नागरिकों का कहना है कि सीमा पार कराने के लिए वकार और मीनू नामक व्यक्तियों ने उनसे प्रति-व्यक्ति आठ हजार रुपये लिए थे। वहीं कोसीकलां में इलियास उन्हें अपनी जमीन में झुग्गी डालकर रहने देने के लिए प्रतिमाह दो हजार रुपये की राशि लेता था। पुलिस ने इस सभी के खिलाफ संबंधित कानून की धाराओं में मामला दर्ज कर इन्हें स्थानीय अदालत में पेश किया। अदालत ने सभी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी: CBI अधिकारी नहीं बने तो जिन्‍हें घूस दी थी, उन्‍हीं का अपहरण कर लिया
2 बिहार: भाजपा नेता के बेटे की गोली मारकर हत्‍या, विरोध में छपरा बंद
3 यूपी पुलिस में 25,091 का प्रमोशन, कॉन्‍स्‍टेबल से अब बने हेड कॉन्‍स्‍टेबल