ताज़ा खबर
 

कोलकाता के अस्पताल में कुत्ते के 16 बच्चों का शव मिलने से हड़कंप, पशु प्रेमी संगठनों ने दर्ज कराया मामला

कोलकाता के सियालदह स्थित नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 16 कुत्तों को जहर देकर मारने का आरोप लगाया गया है।

प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

कोलकाता के सियालदह स्थित नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 16 कुत्तों को जहर देकर मारने का आरोप लगाया गया है। इससे पूरे अस्पताल परिसर में रविवार शाम हड़कंप मच गया। अस्पताल के कर्मचारियों का आरोप है कि किसी ने इन्हें जहर देकर मारा है। एक कर्मचारी की पत्नी पुतुल ने रविवार को इन शवों को सबसे पहले देखा और अस्पताल प्रबंधन को इसकी जानकारी दी।

पुतुल ने देखे शव: कर्मचारी पुतुल के अनुसार, वह जब नर्सिंग हॉस्टल की ओर जा रही थीं, तो उनकी नजर कुछ काले रंगे के प्लास्टिक के थैलों पर पड़ी। इनमें से एक प्लास्टिक के थैले के मुँह कुछ खुला हुआ था, उन्होंने जब ध्यान से देखा, तो उसमें कुत्ते के बच्चे का शव था। इसके बाद कुछ और थैलों में कुत्ते के बच्चों के शव को देखने के बाद उन्होंने अन्य लोगों को इसके बारे में बताया।

(कोलकाता के पुलिस स्टेशन के बाहर  घटना का विरोध करते लोग)

घटनास्थल पर पहुंचे पशु प्रेमी संगठन: अस्पताल परिसर में कुत्ते के बच्चों के शव मिलने की जानकारी मिलते ही कई कई पशु प्रेमी संगठनों के सदस्य घटनास्थल पर आ गए। पशु प्रेमी अनीता दास बसाक ने बताया कि जिस तरह के काले थैले में अस्पताल के कचरे को फेंका जाता है, वैसे ही थैलों में इन शवों को फेंका गया था। पशु प्रेमियों का कहना है कि प्रथम दृष्टतया उन्हें देखकर यही लगता है कि उन्हें जहर देकर ही मारा गया है। हालांकि, अस्पताल प्रबंधन ने इस सिलसिले में कोई भी औपचारिक जानकारी नहीं दी है। अस्पताल के आला अधिकारी किसी भी तरह की प्रतिक्रिया देने में बचते रहे हैं।

जांच करेगी पुलिस: घटना के बाद पशु प्रेमी संगठनों द्वारा ही स्थानीय इंटाली थाने में आरोप दर्ज कराया गया। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में ले लिया है। उसका कहना है कि इन शवों को पोस्टमार्टम के लिए बारासात पशु अस्पताल भेजा जाएगा। इसके साथ ही सीसी टीवी कैमरे के माध्यम से भी मामले की जांच की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App