ताज़ा खबर
 

गुजरात: 2 साल में 15000 नवजात की मौत! Congress बोली- विजय रूपाणी को CM रहने का अधिकार नहीं

पार्टी प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, "विधानसभा में दिए गए आंकड़ों के मुताबिक सरकारी अस्पतालों के ‘सिक न्यू बॉर्न केयर यूनिट’ में दो साल के भीतर 15000 से अधिक नवजात शिशुओं की मौत हो गई। यानी रोजाना 20 से ज्यादा बच्चों की मौत हुई।"

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: March 4, 2020 7:35 PM
कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा और मुख्यमंत्री विजय रूपाणी का इस्तीफा मांगा।

कांग्रेस ने गुजरात में पिछले दो वर्षों में 15000 से अधिक नवजात शिशुओं की मौत से जुड़ी खबर को लेकर बुधवार को राज्य की भाजपा सरकार पर निशाना साधा और कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को कुर्सी पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

पार्टी प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, “विधानसभा में दिए गए आंकड़ों के मुताबिक सरकारी अस्पतालों के ‘सिक न्यू बॉर्न केयर यूनिट’ में दो साल के भीतर 15000 से अधिक नवजात शिशुओं की मौत हो गई। यानी रोजाना 20 से ज्यादा बच्चों की मौत हुई।”

उन्होंने कहा, “नियम के मुताबिक दो बच्चों के बीच तीन मीटर का फासला होना चाहिए, लेकिन बच्चों को अगल बगल लिटाया जाता जिससे संक्रमण फैल रहा है।” उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, “सबसे बड़े दुख की बात यह है कि स्टंट करने के लिए प्रधानमंत्री भावुक हो जाते हैं। इस पर कुछ नहीं बोलेंगे। उन्हें स्टेट्समैन होना चाहिए, स्टंटमैन नहीं।”

गोहिल ने दावा किया, “सबसे ज्यादा मौतें अहमदाबाद में हुई हैं जहां से नरेंद्र मोदी ने विधानसभा में प्रतिनिधित्व किया और गृह मंत्री अमित शाह का संसदीय क्षेत्र गांधीनगर भी उससे लगता है।” उन्होंने कहा, ‘‘इसके बाद शिशुओं की मौत के दूसरे सर्वाधिक मामले राजकोट से आये जहां से मुख्यमंत्री खुद प्रतिनिधत्व करते हैं। ऐसे मुख्यमंत्री को कुर्सी पर बैठे रहने का अधिकार नहीं है।’’

इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक अंग्रेजी दैनिक की खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, “गुजरात में भाजपा सरकार के शासन में दो साल में 15,013 बच्चों की मौत हुई। यानी हर रोज 20 शिशुओं की मौत हो रही है।” उन्होंने दावा किया, ‘‘सबसे ज्यादा 4,322 बच्चों की मौत अहमदाबाद में, ये हालत अमित शाह जी के क्षेत्र में है।” सुरजेवाला ने सवाल किया, “क्या बच्चों की चीख सुनाई देगी? क्या कोई सवाल उठाएगा? क्या टीवी मीडिया के साथी साहस दिखाएँगे?’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी जल निगम में 1300 लोगों की नौकरियां खत्म, सपा सरकार में हुई थी बहाली, योगी सरकार ने किया रद्द
2 Delhi Riots: ताहिर हुसैन के रेस्क्यू पर पुलिस का यू-टर्न, बोली- हमने नहीं बचाया; है फरार
ये पढ़ा क्या?
X