मिलने का बहाना कर यूपी की मासूम को ले गया दिल्ली, फिर तीन और दरिंदों संग किया गैंगरेप; थाने पहुंचे परिजन तो दो बार पुलिस ने फाड़ा शिकायती पत्र

जिला गाजियाबाद में एक 14 साल की मासूम के साथ गैंगरेप किया गया है। पुलिस ने इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि चौथा आरोपी अभी भी फरार है।

rape in ghaziabad, delhi crime
प्रतिकात्मक तस्वीर (फोटो-Indian Express)

गाजियाबाद में एक 14 साल की नाबालिग से गैंगरेप करने का मामला सामने आया है। मासूम के जानने वाले एक लड़के ने ही उसे घर से बुलाकर इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है। इस मामले में पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल उठ रहे हैं। परिवार का आरोप है कि जब वो मामला दर्ज कराने पुलिस के पास पहुंची तो उन्होंने उनके शिकायत को ही फाड़ दिया।

घटना 27 जुलाई की है। आरोपी करन ने लड़की को घर के पास एक मंदिर में मिलने के लिए बुलाया। लड़की जब वहां पहुंची, तो उसे वहां से वो पार्क ले कर गया। पार्क में उसने अपने तीन दोस्त- गोलू, लेफ्टी और सूरज से मिलवया। यहां से चारों ने लड़की को कार से एक ड्राइव के लिए मनाया। आरोपी ड्राइव के बहाने लड़की को दिल्ली स्थित कोंडली के एक फ्लैट में ले गए। जहां बारी-बारी से चारों ने मासूम के साथ रेप किया

आरोपियों का मन जब भर गया तो वो पीड़िता को वापस उसके घर के पास सड़क पर छोड़ दिया। आरोपियों ने लड़की को धमकी दी कि अगर वो किसी को इस घटना के बारे में बताएगी तो गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। इसके बाद पीड़िता जैसे-तैसे घर पहुंची और सारी घटना अपने घर वालों को बताई, घटना से हैरान-परेशान घरवाले पुलिस के पास पहुंचे और शिकायत दर्ज करवाई।

परिवार के एक सदस्य के अनुसार- पुलिस चौथे ओरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है। परिवार का कहना है कि पुलिस ने पहले मामला दर्ज नहीं किया। “दो बार तो हमारी शिकायत को ही फाड़ कर वापस कर दिया। एक पुलिस कर्मी ने शिकायत में से एक आरोपी का नाम हटाने की बात भी की थी। इसके बाद जब हमने सीनियर अधिकारियों से संपर्क किया तब जाकर मामले की शिकायत दर्ज की गई।”

इंदिरापुरम् सीओ अभय कुमार मिश्रा ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि मामले में पीड़िता की मेडिकल करवाई गई है, रिपोर्ट आनी बाकी है। चार अभियुक्तों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। जिसमें से 3 को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस पर लग रहे आरोपों पर सीओ अभय कुमार मिश्रा ने कहा कि पीड़ित परिवार को बयान दर्ज कराने के लिए थाने पर बुलाया गया था, लेकिन वे लोग आए नहीं है। शुरूआती जांच में ऐसा कुछ नहीं पाया गया है। हालांकि जांच जारी है और अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। चौथे आरोपी की गिरफ्तारी पर उन्होंने कहा कि पुलिस तलाश कर रही है, उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

अपडेट
X