ताज़ा खबर
 

लखनऊ से हज यात्रा पर जाएंगे 14,500 लोग, ऐसी रहेगी व्यवस्था

हज यात्रियों के एक समूह के साथ एक खिदमतगार/साथी को भी हज हाउस में रहने की अनुमति है। हज यात्रियों तथा खिदमतगार के लिए परिचय-पत्र बनवाने की व्यवस्था हज हाउस के गेट नंबर-2 के पास बने काउंटर से होगी।

Author लखनऊ | July 10, 2019 3:59 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (एक्सप्रेस फाइल)

उत्तर प्रदेश में अकेले लखनऊ से लगभग 14,500 लोग इस बार हज यात्रा पर जाएंगे। विमानों की उड़ान विवरण के अनुसार लखनऊ से उड़ानें 21 जुलाई 2019 से प्रारंभ होकर छह अगस्त 2019 तक जारी रहेंगी। इसके अनुसार पांच दिन चार-चार उड़ानें, चार दिन तीन-तीन उड़ानें, सात दिन दो-दो उड़ानें और एक दिन एक उड़ान के साथ कुल 47 उड़ानें हज यात्रा के लिए रवाना होंगी। उल्लेखनीय है कि देश की राजधानी दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से हज यात्रियों के जाने का सिलसिला पहले ही शुरू हो चुका है।

साथ में आने वाले को भी हज हाउस जाने की अनुमतिः यह जानकारी उत्तर प्रदेश राज्य हज समिति के सचिव/कार्यपालक अधिकारी, राहुल गुप्ता ने एक बयान में दी। उन्होंने बताया कि हज यात्रियों के एक समूह के साथ एक खिदमतगार/साथी को भी हज हाउस में रहने की अनुमति है। हज यात्रियों तथा खिदमतगार के लिए परिचय-पत्र बनवाने की व्यवस्था हज हाउस के गेट नंबर-2 के पास बने काउंटर से होगी।

गेस्ट रूम तक सामान ले जाने के लिए रहेंगे कुलीः गुप्ता ने बताया, ‘हज यात्रियों के सामान उनके विश्राम कक्षों तक ले जाने के लिए गेट पर कुली उपलब्ध होंगे। यही कुली हज हेतु हवाई अड्डे तक सामान के ट्रक के साथ भी जायेंगे। हज यात्रियों एवं उनके रिश्तेदारों को हज हाउस के मुख्य भवन के पीछे बने प्रशासनिक भवन के भू-तल पर स्थापित हज कमेटी ऑफ इंडिया के कार्यालय से सम्पर्क करना होगा। यहीं पर यात्रा से 24 घंटे पूर्व हज कमेटी ऑफ इंडिया/राज्य हज समिति के कर्मचारियों द्वारा हज यात्रियों को पासपोर्ट, वीजा, बोर्डिंग कार्ड, इमीग्रेशन फॉर्म, परिचय पत्र एवं स्टिकर उपलब्ध कराए जाएंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App