ताज़ा खबर
 

Google Map ने 4 महीने से लापता बच्ची को पिता से मिलाया, Delhi Police ने यूं की मानसिक विक्षिप्त की मदद

शुरुआती जांच के दौरान कहा कि बच्ची अपना घर याद नहीं कर सकी और उसने केवल यह कहा कि वह खुर्जा गांव से है और उसके पिता का नाम जीतन है।

Author नई दिल्ली | Published on: August 18, 2019 5:22 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली पुलिस ने चार महीने पहले लापता हुई 12 वर्षीय बच्ची को गूगल मैप (Google Map) की मदद से उसके पिता से मिला दिया। पुलिस के अनुसार बच्ची 21 मार्च को होली के दिन कीर्ति नगर के निकट ई-रिक्शा में सवार हुई थी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जब बच्ची मेट्रो स्टेशन पर नहीं उतरी तो ई-रिक्शा चालक ने उससे पूछा कि वह कहां जाना चाहती है, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। वह उसे रात 8 बजकर 33 मिनट पर कीर्ति नगर पुलिस थाने ले गया।

अधिकारी ने कहा कि शुरुआती जांच के दौरान कहा कि बच्ची अपना घर याद नहीं कर सकी और उसने केवल यह कहा कि वह खुर्जा गांव से है और उसके पिता का नाम जीतन है। पुलिस ने दिल्ली के खजूरी खास और खुरेजी इलाकों में तलाश की चूंकि इन इलाकों का नाम खुर्जा शब्द से मिलता-जुलता है, लेकिन उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दायर कराए जाने की कोई जानकारी नहीं मिली। इसके बाद वे मानसिक रूप से कमजोर बच्ची को नजदीकी जेजे कॉलोनी ले गए, लेकिन कोई भी उसे पहचान नहीं पाया।
National Hindi News, 18 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

डीसीपी (पश्चिम) मोनिका भारद्वाज ने कहा कि पुलिस की एक टीम बच्ची को चार बार उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के खुर्जा गांव ले गई, लेकिन उन्हें उसके परिवार के बारे में कोई सुराग नहीं मिला। इसके बाद पुलिस की टीम जब 31 जुलाई को एक बार फिर खुर्जा ले गई तो वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने उससे उसके गांव के आसपास के इलाकों के नाम पूछे। बच्ची ने बताया कि उसकी मां का गांव सोनबरसा है और उसके गांव के निकट साकापर नामक जगह है।
Bihar News Today, 18 August 2019: बिहार से जुड़ीं सभी खास खबरों के लिए क्लिक करें

इसके बाद पुलिस को गूगल मैप के जरिये पता चला कि उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में साकापर, सोनबरसा और खुर्जा नाम के गांव हैं। पुलिस ने उसके परिवार का भी पता लगा लिया। एक अगस्त को खुर्जा निवासी उसका पिता जीतन गोरखपुर से दिल्ली आया। जीतन ने बताया कि वह मानव व्यवहार एवं संबद्ध विज्ञान संस्थान (इहबास) में अपनी बेटी का इलाज कराने के लिये दिल्ली आया था। उसकी बेटी कीर्ति नगर के निकट जेजे कॉलोनी स्थित उसकी बहन के घर से लापता हो गई थी, लेकिन उसने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Uttarakhand में बादल फटे, भारी बारिश और लैंड स्लाइडिंग के चलते 26 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की आशंका
2 Himachal: भारी बारिश और लैंड स्लाइडिंग से तहस-नहस हुईं सड़कें, अखाड़ा बाजार में ब्यास नदी पर बना पुल टूटा, 18 लोगों की मौत
3 Mercedes में जा घुसी अंधाधुंध दौड़ रही Jaguar, दो बांग्लादेशियों की मौत, मशहूर बिरयानी चेन Arsalan के मालिक की थी अनियंत्रित कार