ताज़ा खबर
 

Chamki Fever Symptoms, Causes, Precautions: बिहार में चमकी बुखार का कहर जारी, अब तक 111 बच्चों की मौत

Encephalitis (Chamki Fever) Symptoms, Causes, Precautions, Treatment, Prevention: बिहार में 'चमकी' बुखार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बुखार से मरने वालों की संख्या अबतक बढ़कर 111 हो चुकी है।

Author मुजफ्फरपुर | June 19, 2019 1:27 PM
चमकी बुखार फाइल फोटो- इंडियन एक्सप्रेस

 Encephalitis (Chamki Fever) Symptoms, Causes, Precautions: बिहार में ‘चमकी’ बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 111 हो गई। चमकी बुखार एक्यूट इन्सेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) को कहा जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर जिले के एक अस्पताल का दौरा किया और इस दौरान उन्हें नाराज लोगों द्वारा की गई नारेबाजी का सामना करना पड़ा। एसकेएमसीएच अस्पताल और केजरीवाल अस्पताल में मरने वालों की संख्या 110 हो गई है जबकि पड़ोसी पूर्वी चंपारण जिले में एक बच्चे की जान गई है। वैसे एईएस के ज्यादातर मामले मुजफ्फरपुर में सामने आए हैं लेकिन पड़ोस के पूर्वी चंपारण और वैशाली जैसे जिलों में भी इस तरह के मामलों की खबर है।

मृतकों की संख्या पहुंची 100 के पारः  इससे पहले, मुजफ्फरपुर के सिविल सर्जन डॉ. शैलेश प्रसाद ने बताया था कि मंगलवार (18 जून) देर शाम तक एईएस (चमकी बुखार) से मरने वाले बच्चों की संख्या 109 हो गई है, जिनमें से श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसकेएमसीएच) में 90 बच्चों और केजरीवाल अस्पताल में 19 बच्चों की मौत हुई है। जानकारी के मुताबिक मुजफ्फरपुर के श्री कृष्ण सिंह मेडिकल कॉलेज में अपने बीमार बच्चों का इलाज कराने आए परिजनों ने यहां के अस्पताल प्रशासन पर अपनी मनमानी करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उनके बच्चों को अस्पताल में भर्ती नहीं किया जा रहा है, केवल दवा देकर वापस भेज दिया जा रहा है।
National Hindi News, 19 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

अस्पताल पहुंच कर लिया जायजाः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को एसकेएमसीएच पहुंचकर हालात का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों और चिकित्सकों के साथ बैठक की तथा कई आवश्यक निर्देश दिए हैं। बता दें दौरे के दौरान अस्पताल के बाहर मौजूद लोगों ने जमकर उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी। बच्चों की मौत से परेशान उनके परिजनों ने ‘नीतीश वापस जाओ’, ‘नीतीश मुर्दाबाद’ के नारे लगाए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App