ताज़ा खबर
 

100 लोगों को धोखाधड़ी कर सरकारी नौकरी दिलवाई, पुलिस के शिकंजे में गृह मंत्रालय और आयकर विभाग के कर्मचारी

अपर आयुक्त ने बताया कि ये लोग सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर 10 लाख रुपए से लेकर 20 लाख रुपए तक की रकम आवेदकों से लेते हैं।

Author नई दिल्ली | November 28, 2020 8:17 PM
Madhya pradesh freedom of religion act, faith, conversion, hindu women, harrasment, arrest, booked, culture, madhya pradesh freedom of religion act 1968, arabic languages,महिला के धर्म को बदलने की कोशिश करने वाला प्रेमी गिरफ्तार। (सांकेतिक तस्वीर)

यूपी के नोएडा थाना सेक्टर 58 पुलिस ने दिल्ली पुलिस एवं अन्य सरकारी विभागों में नौकरी के लिए आवेदन करने वाले लोगों की जगह दूसरे को परीक्षा में बिठाकर तथा लाखों रुपए की ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है। अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार कुमार ने बताया कि पुलिस का सूचना मिली थी कि सेक्टर 62 स्थित आईओन डिजिटल जोन में शनिवार को दिल्ली पुलिस की भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा चल रही थी जिसमें तीन परीक्षार्थियों की जगह, उनका आई कार्ड लेकर कोई और व्यक्ति परीक्षा दे रहे हैं।

उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर पुलिस ने अर्पित, दिनेश चौधरी, तथा अमन को हिरासत में लेकर पूछताछ किया, तो उन्होंने बताया कि उनके छह अन्य साथी दिनेश जोगी, दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल रविंद्र कुमार, दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल मनजीत सिंह, शिव कुमार, मुकेश, सोनू परीक्षा केंद्र के बाहर खड़े हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया। उनके अनुसार गिरफ्तार बदमाशों ने पूछताछ के दौरान बताया कि दिनेश जोगी एवं इनकम टैक्स में इंस्पेक्टर उसके मामा रवि कुमार और गृह मंत्रालय में तैनात उनके साथी अरविंद उर्फ नैन मिलकर गैंग चलाते है।

उन्होने बताया कि वर्तमान में रक्षा मंत्रालय में ए एस ओ के पद पर अपनी जगह किसी और को बैठाकर दिनेश ने नौकरी पायी है, और आने वाले कुछ दिनों में उनकी ज्वाइनिंग होने वाली है। उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस के दो कांस्टेबल रविंद्र एवं मनजीत का काम इस गैंग को प्रश्नपत्र हल करने वाला उपलब्ध कराना है। उन्होंने बताया कि इस गैंग का मुख्य सरगना दिनेश जोगी है। अब तक ये लोग 100 लोगों को धोखाधड़ी से अन्य विभागों में नौकरी दिलवा चुके हैं।

अपर आयुक्त ने बताया कि ये लोग सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर 10 लाख रुपए से लेकर 20 लाख रुपए तक की रकम आवेदकों से लेते हैं। उन्होंने बताया कि पकड़े गए बदमाशों से 2,10,000 रुपए नगद, कई मोबाइल फोन, तीन लग्जरी कारें, दिल्ली पुलिस की दो वर्दी तथा फर्जी दस्तावेज आदि बरामद हुआ है। उन्होंने बताया कि इस गैंग के सरगना आयकर विभाग में तैनात इंस्पेक्टर रवि कुमार तथा गृह मंत्रालय में तैनात अरंिवद फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ओवैसी के गढ़ में योगी आदित्य नाथ का रोड शो, लगे ‘जय श्रीराम’ के नारे
2 LJP Foundation Day: बिना नाम लिए चिराग ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा – 2025 से पहले हो सकते हैं बिहार चुनाव, 243 सीटों की करो तैयारी
3 ओवैसी के छोटे भाई अकबरुद्दीन के खिलाफ केस दर्ज, नेताओं की समाधियों पर की थी विवादित टिप्पणी
आज का राशिफल
X