ताज़ा खबर
 

यूपी: 10 लाख बच्‍चों का ल‍िया जाएगा टेस्‍ट, पूछे जाएंगे नरेंद्र मोदी, बीजेपी और आरएसएस से जुड़े सवाल

सूत्रों के अनुसार इस बुकलेट को आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा को प्रचार करने के मकसद से बनाया जा रहा है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

उत्तर प्रदेश में दीनदयान उपाध्याय के जन्मदिवस के साल के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी 26 अगस्त को दसवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए एक प्रतियोगिता परीक्षा का आयोजन करने जा रही है। इस परीक्षा में बीजेपी और आरएसएस से जुड़े गए सवाल पूछे जाएंगे। इस परीक्षा को आयोजित करने के पीछे का उद्देश्य है कि छात्रों में बीजेपी और आरएसएस की विचारधारा को फैलाया जा सका। परीक्षा के सभी प्रश्न प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की उपलब्धियों को लेकर छपी किताब से पूछे जाएंगे और इसके साथ ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के दर्शनशास्त्र से भी छात्रों से सवाल पूछे जाएंगे। इस परीक्षा में राज्य के करीब 10 लाख बच्चे हिस्सा लेंगे।

इस पर बात करते हुए बीजेपी राज्य प्रवक्ता चंद्रमोहन ने कहा कि परीक्षा के बाद राज्य के सभी जिलों से 10 छात्रों को चुना जाएगा जिन्हें 25 सितंबर को सम्मानित किया जाएगा। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार प्रश्न पत्र जिस बुकलेट पर आधारित होगा उसे छात्रों द्वारा 1 से 5 अगस्त के बीच में रजिस्ट्रेशन कराने के दौरान उन्हें दिया जाएगा। बुकलेट में बीजेपी और आरएसएस के अलावा दीनदयाल उपाध्याय के विचारधाराओं का गुणगान भी किया जाएगा। जिसमें राजनीति, सामाजिक, सांस्कृतिक और एकात्म मानववाद से जुड़े विषय होंगे। इस बुकलेट की छपाई का कार्य चल रहा है। सूत्रों के अनुसार इस बुकलेट को आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा को प्रचार करने के मकसद से बनाया जा रहा है।

वहीं इस मामले के सामने आने के बाद अन्य राजनीतिक पार्टियां बीजेपी पर निशाना साध रही हैं। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री रामजी लाल सुमन ने कहा कि इसके द्वारा आरएसएस और बीजेपी अपने संप्रादायिक एजेंडे को पूरा करना चाहती है। वहीं इस पर कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विवेक बंसल ने कहा कि इस कदम से बीजेपी नई पीढ़ी का ब्रैनवॉश करना चाह रही है। विचारधारा को फैलाने से ज्यादा महत्वपूर्ण एकीकरण है।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App