ताज़ा खबर
 

राजपाट: सुषमा का धोबीपाट

मध्य प्रदेश में चुनावी हवा के रुख को लेकर भाजपाई खेमे में इस बार उत्साह नदारद है। शिवराज चौहान के खिलाफ व्यवस्था विरोधी रुझान से भाजपा आलाकमान डरा है। उसे सपा और बसपा जैसे छोटे दलों से आस है कि वे कांग्रेस का ज्यादा नुकसान करेंगे।

Author November 24, 2018 4:03 AM
केंद्रीय विदेश मंंत्री सुषमा स्वराज (फोटो सोर्स : Indian Express)

मध्य प्रदेश में चुनावी हवा के रुख को लेकर भाजपाई खेमे में इस बार उत्साह नदारद है। शिवराज चौहान के खिलाफ व्यवस्था विरोधी रुझान से भाजपा आलाकमान डरा है। उसे सपा और बसपा जैसे छोटे दलों से आस है कि वे कांग्रेस का ज्यादा नुकसान करेंगे। पर चुनाव प्रचार करने पहुंची केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने के एलान को लेकर सियासी हलकों में खलबली मच गई है। सुषमा विदिशा से लोकसभा सदस्य हैं। इस सीट की नुमाइंदगी अटल बिहारी वाजपेयी भी कर चुके हैं। उनके इस्तीफा देने के बाद शिवराज चौहान यहीं से लगातार पांच बार लोकसभा के लिए चुने गए। मुख्यमंत्री बनने के बाद वे इसी इलाके की बुधनी विधानसभा सीट की लगातार नुमाइंदगी कर रहे हैं। सुषमा ने चुनाव न लड़ने की वजह अपनी खराब सेहत को बताया। उनका दो वर्ष पहले गुर्दा प्रत्यारोपण हुआ था। वैसी स्थिति से अरुण जेटली भी गुजर चुके हैं। तो सुषमा ने इस एलान के लिए विधानसभा चुनाव का समय और विदिशा को ही क्यों चुना?

सुषमा समर्थक सफाई दे रहे हैं कि वे पहले अपने संसदीय क्षेत्र के हर विधानसभा सभा क्षेत्र में महीने में एक बार जरूर जाती थीं। अब नहीं जा पा रहीं। लिहाजा मतदाताओं को हकीकत बताना जरूरी समझा। पर सयाने अपने हिसाब से निहितार्थ खोज रहे हैं। यह कि सरकार में सुषमा ज्यादा खुश नहीं हैं। एक दौर में वे लोकसभा में विपक्ष की नेता थीं और प्रधानमंत्री पद की दावेदार भी। किसी से छिपा नहीं है कि विदेश मंत्री के नाते फैसलों में उनकी ज्यादा अहम भूमिका कभी दिखी नहीं। ज्यादातर फैसलों के पीछे असली भूमिका राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल की रही है। हवा के रुख को भांप और शिवराज चौहान की लोकप्रियता डांवाडोल देख सुषमा ने सियासी दांव सोच समझ कर ही चला होगा।

(प्रस्तुति : अनिल बंसल)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App