ताज़ा खबर
 

राजपाटः छवि प्रेम

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को सूबे के विकास से ज्यादा फिक्र अपनी सरकार की लगती है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को सूबे के विकास से ज्यादा फिक्र अपनी सरकार की लगती है। सो, नौकरशाही को लेकर खासे चौकस हैं। अब नए मुख्य सचिव की तैनाती की है। अभी तक एस रामास्वामी से ही काम चला रहे थे, जिन्हें हरीश रावत ने बनाया था सूबे की नौकरशाही का मुखिया। हालांकि रामास्वामी के साथ दो अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश और रणवीर सिंह भी लगाए थे। पर इन दोनों की आपसी खींचतान ने प्रशासनिक कामकाज में शिथिलता ला दी। मुख्यमंत्री से अपनी निकटता के नाते ओमप्रकाश न केवल रणवीर सिंह बल्कि रामास्वामी पर भी भारी पड़ रहे थे। सो, केंद्र से अब रावत ने अपने आइएएस अफसर उत्पल कुमार सिंह को वापस बुलाया है।

वे इस पर्वतीय सूबे के नए मुख्य सचिव बनाए गए हैं। हालांकि इसमें भी आलोचक जातिवाद की गंध देख रहे हैं। उत्पल कुमार सिंह 2004 में अर्धकुंभ के दौरान मेला अधिकारी थे। ओमप्रकाश को हटा कर उन्हें सौंपा गया था यह जिम्मा। नतीजतन दोनों में तभी से तनातनी चली आ रही है। अब उत्पल कुमार सिंह के नौकरशाही का मुखिया बन जाने से ओमप्रकाश व्यथित हुए होंगे। हालांकि उत्पल कुमार सिंह की छवि बेदाग रही है।

इसीलिए दागी अफसर बेचैन हैं। मीनाक्षी सुंदरम ने हरीश रावत के राज में मलाई खाने का रिकार्ड बनाया था। अब उनसे पर्यटन विभाग ले लिया गया है। विनय शंकर पांडेय को भी देहरादून विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष पद से हटा कर उत्पल सिंह ने सरकार की प्राथमिकता का दो टूक संदेश दिया है। अब सूबे के लोगों को बस यही आशंका सता रही है कि अति ईमानदारी के चक्कर में कहीं विकास की रफ्तार को ब्रेक न लग जाएं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजपाठः सियासी पैंतरा
2 राजपाटः फुरसत में पासवान
3 राजपाट- कंपकंपी
ये पढ़ा क्या?
X