ताज़ा खबर
 

राजपाटः लट्ठम-लट्ठा

उत्तराखंड की भाजपा सरकार में सब कुछ ठीक ठाक नहीं चल रहा। सूबे के पर्यटन विभाग की तरफ से ऋषिकेश में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के चक्कर में मंत्रियों के आपसी मतभेद उजागर हो गए।

Author March 10, 2018 01:52 am
उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

(अनिल बंसल)
उत्तराखंड की भाजपा सरकार में सब कुछ ठीक ठाक नहीं चल रहा। सूबे के पर्यटन विभाग की तरफ से ऋषिकेश में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के चक्कर में मंत्रियों के आपसी मतभेद उजागर हो गए। कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने खुलकर आलोचना कर दी इस सरकारी आयोजन की। मानक पूरे नहीं करने और अधूरी तैयारियों का जिक्र करने से चूके नहीं। मतभेद मुख्यमंत्री और पर्यटन मंत्री के बीच भी छिप नहीं पाए। पर्यटन विभाग के अफसरों ने अधूरे मन से की आयोजन की तैयारी। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के लिए जरूर प्रतिष्ठा का सवाल बन गया यह आयोजन। उन्हीं की पहल पर इंग्लैंड के लीवर पूल से इंग्लिश बैंड द मोक बीटल्स पहुंचा। पर उसके कार्यक्रम को असफल बनाने में किसी ने कसर नहीं छोड़ी। बेचारे सतपाल महाराज को अपनी पूरी ताकत झोकनी पड़ गई।

बैंड का कार्यक्रम कामयाब हो गया। पर मुख्यमंत्री और उनके मंत्री हरक सिंह रावत व धनसिंह रावत ने सरकारी योग महोत्सव के बजाए परमार्थ निकेतन में चिदानंद सरस्वती के योग महोत्सव से ज्यादा सरोकार दिखाया। दिखाते भी क्यों नहीं। आखिर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से कराया था चिदानंद सरस्वती ने अपने योग समारोह का उद्घाटन। उत्तराखंड सरकार ही नहीं उसका पूरा अमला जुटा था चिदानंद की सेवा में। अजीब विरोधाभास था। ऋषिकेश में ही एक साथ दो-दो योग महोत्सव। एक परमार्थ निकेतन में दूसरा गढ़वाल मंडल विकास निगम के अतिथि गृह में।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App