ताज़ा खबर
 

राजपाटः अपने हुए बेगाने

लोकसभा की दो और विधानसभा की एक सीट के उपचुनाव ने राजस्थान में सत्तारूढ़ भाजपा के खेमे में घबराहट बढ़ा दी है।

Author Published on: January 27, 2018 4:11 AM
आनंदपाल मुठभेड़ और पद्मावत फिल्म को लेकर राजपूत वसुंधरा सरकार से खफा हैं तो गुर्जर समाज सचिन पायलट में भविष्य देखने लगा है। जो कांग्रेस के सूबेदार हैं।

लोकसभा की दो और विधानसभा की एक सीट के उपचुनाव ने राजस्थान में सत्तारूढ़ भाजपा के खेमे में घबराहट बढ़ा दी है। अपनों की ही इस घबराहट से कुछ अपने भी बेगाने की तरह बर्ताव करने लगे हैं। जो असंतुष्ट हैं और चार साल की अपनी ही सरकार में जिन्हें कुछ हाथ नहीं आया वे खुश हैं। या यूं भी कह सकते हैं कि वे अपनों की ही हार की दुआ कर रहे हैं। ताकि उनके अच्छे दिन आ जाएं। अजमेर और अलवर की लोकसभा व मांडलगढ़ की विधानसभा आम चुनाव में भाजपा ने जीती थी। भाजपा को उपचुनाव में अपनी परंपरागत समर्थक जातियों राजपूत, ब्राह्मण और गुर्जर से बेरुखी मिल रही है। आनंदपाल मुठभेड़ और पद्मावत फिल्म को लेकर राजपूत वसुंधरा सरकार से खफा हैं तो गुर्जर समाज सचिन पायलट में भविष्य देखने लगा है। जो कांग्रेस के सूबेदार हैं।

रही ब्राह्मणों की बात तो एक तो घनश्याम तिवाड़ी की उपेक्षा ऊपर से अजमेर में कांग्रेस का ब्राह्मण उम्मीदवार उतारना भाजपा को नाकों चने चबा रहा है। उधर सत्तारूढ़ दल का संघी खेमा पार्टी के उम्मीदवारों पर ही नाकभौं सिकोड़ रहा है। मसलन, कहने को जसवंत यादव वसुंधरा सरकार में मंत्री ठहरे। सो, अलवर में उन्हें उम्मीदवार बनाने पर किसी को चूं-चपड़ नहीं करनी चाहिए। लेकिन संघी तो अभी भी पूर्व कांग्रेसी जसवंत को दल-बदलू ही बता रहे हैं। कांग्रेस ने भी मुकाबले में कद्दावर यादव डाक्टर करण सिंह को उतारा है। बेचारे जसवंत यादव की दुविधा अलवर के विधायकों ने ज्यादा बढ़ा रखी है। सारे उनसे अपनी नाराजगी का हिसाब उपचुनाव हरा कर बराबर करने के मूड में हैं।

हां, अमित शाह की धमकी से जरूर डरे हैं। शाह ने उन्हें राह पर लाने के लिए चेतावनी दी थी कि जिसके क्षेत्र में पार्टी उम्मीदवार हारेगा, वह नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव में टिकट की उम्मीद न पाले। रही कार्यकर्ताओं की बात तो वे भी नखरे दिखा रहे हैं। खुलेआम प्रतिक्रिया दे रहे हैं कि उनसे सलाह लेकर तो उम्मीदवार तय किए नहीं तो फिर चुनाव भी खुद ही लड़ा ले आलाकमान।
(प्रस्तुति : अनिल बंसल)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजपाटः शह और मात
2 राजपाटः वेस्ट से बेस्ट- पीएम मोदी के विकास के एजेंडे को सीएम ममता ने नहीं किया दरकिनार
3 राजपाटः गुरु मंत्र-समाज सुधारक बन गए बिहार के सीएम नीतीश कुमार!
जस्‍ट नाउ
X