ताज़ा खबर
 

राजपाट: फेसबुकिया चकल्लस

हरीश रावत पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तंज कसा और अपनी फेसबुक पर लिख दिया कि वे मुख्यमंत्री रहते एक साथ दो सीटों से लड़े और दोनों पर हार गए। उनकी पत्नी हरिद्वार से पिछला लोकसभा चुनाव हारी थीं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और कांग्रेस के हरीश रावत

मतदान तो निपट गया पर उत्तराखंड में कांग्रेस और भाजपा के बीच चकल्लस थमने के बजाए और तेज हो गई है। पिछली दफा सूबे की पांचों सीटों पर भाजपा विजयी हुई थी। इस बार हवा का रुख पूरी तरह किसी भी पार्टी के पक्ष में नजर नहीं आया। अलबत्ता दोनों दलों के सूरमा जरूर आपस में आरोप-प्रत्यारोप की जंग में उलझ गए हैं। कांग्रेस के हरीश रावत और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के बीच सोशल मीडिया पर छिड़ी जंग का मकसद कौन बड़ा रावत, साबित करने की लगती है।

हरीश रावत पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तंज कसा और अपनी फेसबुक पर लिख दिया कि वे मुख्यमंत्री रहते एक साथ दो सीटों से लड़े और दोनों पर हार गए। उनकी पत्नी हरिद्वार से पिछला लोकसभा चुनाव हारी थीं। मुख्यमंत्री ने भविष्यवाणी कर डाली कि अब नैनीताल से हरीश रावत लोकसभा चुनाव भी हारने जा रहे हैं। त्रिवेंद्र इतने पर ही नहीं रुके। उनके नाम में भी खोट निकाल दिया। उत्तराखंड में हरीश रावत को लोग हरदा कहते हैं। त्रिवेंद्र सिंह ने कहा कि अब उनका नाम हरदा की जगह हारदा बन गया है। लगातार हार जो हो रही है उनकी। जनता उन्हें नकार चुकी है। इस निजी हमले से हरीश रावत भी तिलमिला गए।

फेसबुक पर ही तपाक से जवाब दे दिया कि बेशक वे विधानसभा चुनाव हार गए हों पर जनता के दिलों पर राज करते हैं। सूबे की जनता और नेता हमेशा उनके नाम की ही चर्चा करते हैं। फिर फरमाया-मुख्यमंत्री भी भले ही आपका नाम जीत कर रेकार्ड में दर्ज किया है पर जनता के दिलों पर आप अपना नाम कायम नहीं कर सकते। दोनों सूरमाओं की इस फेसबुकिया चक-चक का लोग खूब लुत्फ ले रहे हैं। दोनों रावत नेताओं के बीच तल्खी बढ़ रही है तो बढ़े।

(अनिल बंसल)

Next Stories
1 राजपाट: जुलाहों में लट्ठमलट्ठा
2 राजपाट: रंग बेढंग
3 मर्यादा तार-तार
ये पढ़ा क्या?
X